Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2024 · 1 min read

आओ उर के द्वार

असह्य हुआ है अब
वेदना का ज्वार
चाहता है तोड़ बहना
सशक्त बांध दीवार।
ढूॅंढता है टूटा मन
एक ऐसा संबल
सिर रख कर रो ले
जहाॅं पर पल दो पल।
मगर तेरे सिवा
है कौन मेरा जग में ?
सब छिड़कते हैं नमक
यहाॅं दुखती रग पे।
आखिर आते क्यों नहीं
तुम बनकर साकार
क्या अभी कुछ कम है
मेरी वेदना का भार ?
निराकार मैंने तुम्हें
कभी माना नहीं
दूर तुमको मैंने
कभी जाना नहीं।
आज तुम भी मुझसे
क्यों मुॅंह चुराने लगे
मन में अकेलेपन का
अहसास जगाने लगे।
अगर है सच्ची श्रद्धा
सच्चा है मेरा प्यार
तो मुझे दिलासा देने
आओ उर के द्वार।

—प्रतिभा आर्य
चेतन एनक्लेव,
अलवर(राजस्थान)

Language: Hindi
1 Like · 253 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from PRATIBHA ARYA (प्रतिभा आर्य )
View all
You may also like:
गाँधी हमेशा जिंदा है
गाँधी हमेशा जिंदा है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
प्रकृति
प्रकृति
Mukesh Kumar Sonkar
प्रथम नमन मात पिता ने, गौरी सुत गजानन काव्य में बैगा पधारजो
प्रथम नमन मात पिता ने, गौरी सुत गजानन काव्य में बैगा पधारजो
Anil chobisa
आज इस सूने हृदय में....
आज इस सूने हृदय में....
डॉ.सीमा अग्रवाल
आजा रे आजा घनश्याम तू आजा
आजा रे आजा घनश्याम तू आजा
gurudeenverma198
Ishq - e - Ludo with barcelona Girl
Ishq - e - Ludo with barcelona Girl
Rj Anand Prajapati
नज़र चुरा कर
नज़र चुरा कर
Surinder blackpen
आए अवध में राम
आए अवध में राम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
संघर्षी वृक्ष
संघर्षी वृक्ष
Vikram soni
मुसलसल ठोकरो से मेरा रास्ता नहीं बदला
मुसलसल ठोकरो से मेरा रास्ता नहीं बदला
कवि दीपक बवेजा
अब उनके ह्रदय पर लग जाया करती है हमारी बातें,
अब उनके ह्रदय पर लग जाया करती है हमारी बातें,
शेखर सिंह
✍️ D. K 27 june 2023
✍️ D. K 27 june 2023
The_dk_poetry
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ: दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ: दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
दो पल की जिन्दगी मिली ,
दो पल की जिन्दगी मिली ,
Nishant prakhar
दिल को एक बहाना होगा - Desert Fellow Rakesh Yadav
दिल को एक बहाना होगा - Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
"लेकिन"
Dr. Kishan tandon kranti
स्वदेशी कुंडल ( राय देवीप्रसाद 'पूर्ण' )
स्वदेशी कुंडल ( राय देवीप्रसाद 'पूर्ण' )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मन से हरो दर्प औ अभिमान
मन से हरो दर्प औ अभिमान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
If I were the ocean,
If I were the ocean,
पूर्वार्थ
■ मेरे स्लोगन (बेटी)
■ मेरे स्लोगन (बेटी)
*Author प्रणय प्रभात*
सम्मान करे नारी
सम्मान करे नारी
Dr fauzia Naseem shad
श्याम-राधा घनाक्षरी
श्याम-राधा घनाक्षरी
Suryakant Dwivedi
सफलता
सफलता
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
24/241. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/241. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सुनें   सभी   सनातनी
सुनें सभी सनातनी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
I love to vanish like that shooting star.
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
पेड़ लगाओ तुम ....
पेड़ लगाओ तुम ....
जगदीश लववंशी
गुमान किस बात का
गुमान किस बात का
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
नारी सम्मान
नारी सम्मान
Sanjay ' शून्य'
💐प्रेम कौतुक-478💐
💐प्रेम कौतुक-478💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...