Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jun 2023 · 1 min read

आइन-ए-अल्फाज

आइन-ए-अल्फाज

यहाँ कत्ल नहीं देखते, देखे जाते इरादे,
आइन-ए-अल्फाज के ,हालात ही कुछ ऐसे हैं।

बेखौफ घूमती हैं कातिल,तो मैं भी क्या करुँ,
कोर्ट की जुबानी,बयानात ही कुछ ऐसे हैं।

तारीख दर तारीख फकत मिलती तारीख हीं,
अंधे हाकिम के, खैरात हीं कुछ ऐसे है।

फरियाद लेकर अपनी ,जाएँ भी तो जाएँ किधर,
अल्लाह भी बेजुबां है, सवालात ही कुछ ऐसे हैं।

अजय अमिताभ सुमन

1 Like · 304 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सिय का जन्म उदार / माता सीता को समर्पित नवगीत
सिय का जन्म उदार / माता सीता को समर्पित नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
दूर हमसे वो जब से जाने लगे हैंं ।
दूर हमसे वो जब से जाने लगे हैंं ।
Anil chobisa
चल बन्दे.....
चल बन्दे.....
Srishty Bansal
रफ़्ता -रफ़्ता पलटिए पन्ने तार्रुफ़ के,
रफ़्ता -रफ़्ता पलटिए पन्ने तार्रुफ़ के,
ओसमणी साहू 'ओश'
बचपन
बचपन
लक्ष्मी सिंह
पहली नजर का जादू दिल पे आज भी है
पहली नजर का जादू दिल पे आज भी है
VINOD CHAUHAN
मशीन कलाकार
मशीन कलाकार
Harish Chandra Pande
किसी भी व्यक्ति के अंदर वैसे ही प्रतिभाओं का जन्म होता है जै
किसी भी व्यक्ति के अंदर वैसे ही प्रतिभाओं का जन्म होता है जै
Rj Anand Prajapati
#प्रथम_स्मृति_दिवस
#प्रथम_स्मृति_दिवस
*Author प्रणय प्रभात*
“गुप्त रत्न”नहीं मिटेगी मृगतृष्णा कस्तूरी मन के अन्दर है,
“गुप्त रत्न”नहीं मिटेगी मृगतृष्णा कस्तूरी मन के अन्दर है,
गुप्तरत्न
* हाथ मलने लगा *
* हाथ मलने लगा *
surenderpal vaidya
वो भी तन्हा रहता है
वो भी तन्हा रहता है
'अशांत' शेखर
देवों के देव महादेव
देवों के देव महादेव
Neeraj Agarwal
*रामपुर की गाँधी समाधि (तीन कुंडलियाँ)*
*रामपुर की गाँधी समाधि (तीन कुंडलियाँ)*
Ravi Prakash
Irritable Bowel Syndrome
Irritable Bowel Syndrome
Tushar Jagawat
खूबसूरती एक खूबसूरत एहसास
खूबसूरती एक खूबसूरत एहसास
Dr fauzia Naseem shad
मेनका की मी टू
मेनका की मी टू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Sannato me shor bhar de
Sannato me shor bhar de
Sakshi Tripathi
मजे की बात है
मजे की बात है
Rohit yadav
कुत्ते की व्यथा
कुत्ते की व्यथा
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
पृथ्वी दिवस
पृथ्वी दिवस
Bodhisatva kastooriya
3199.*पूर्णिका*
3199.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नारी जागरूकता
नारी जागरूकता
Kanchan Khanna
इस दुनियां में अलग अलग लोगों का बसेरा है,
इस दुनियां में अलग अलग लोगों का बसेरा है,
Mansi Tripathi
मेरे हर शब्द की स्याही है तू..
मेरे हर शब्द की स्याही है तू..
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
सत्य तो सीधा है, सरल है
सत्य तो सीधा है, सरल है
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
"कवि के हृदय में"
Dr. Kishan tandon kranti
*अजीब आदमी*
*अजीब आदमी*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रूप से कह दो की देखें दूसरों का घर,
रूप से कह दो की देखें दूसरों का घर,
पूर्वार्थ
आसमान को उड़ने चले,
आसमान को उड़ने चले,
Buddha Prakash
Loading...