Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jun 2016 · 1 min read

आँगन में तुलसी खड़ी,गलियारे में नीम (दोहे)

आँगन में तुलसी खड़ी,गलियारे में नीम !
मेरे घर में हीं रहें, दो दो वैद्य हकीम !!
…………………………..
क्या धनमंतर वैद्य हो, क्या लुकमान हकीम।
दोनों सिर-माथे चढ़ी,… रही हमेशा नीम॥
……………………………..
रसा-बसा है नीम में,…औषधि का भंडार।
मानव पर इसने किए, कोटि-कोटि उपकार!!
……………………………
लगा नीम का वृक्ष है, जिसके घर के पास।
जहरीले कीडे वहां,… करते नहीं निवास॥
……………………………
दंत-सफ़ाई के लिए, मिले मुफ़्त दातून।
पैसों का होता नहीं, जिसमें कोई खून॥
…………………………….
कडुवी है तो क्या हुआ, गुण तो इसके नेक।
नीम छाँव में बैठे के,.. जाग्रत करो विवेक॥
रमेश शर्मा

Language: Hindi
Tag: दोहा
2 Likes · 2 Comments · 936 Views
You may also like:
सबूत
Dr.Priya Soni Khare
🙋बाबुल के आंगन की चिड़िया🙋
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
✍️हम सब है भाई भाई✍️
'अशांत' शेखर
मित्र
लक्ष्मी सिंह
मेहमान बनकर आए और दुश्मन बन गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
दुखो की नैया
AMRESH KUMAR VERMA
सियासी चालें गहरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
भारत
विजय कुमार 'विजय'
गज़ल
Krishna Tripathi
आजादी का जश्न
DESH RAJ
कळस
Shyam Sundar Subramanian
" सूरजमल "
Dr Meenu Poonia
जीवन क्षणभंगुरता का मर्म समझने में निकल जाती है।
Manisha Manjari
ढलती हुई शाम
Dr fauzia Naseem shad
Shayri
श्याम सिंह बिष्ट
■ एक_स्तुति
*प्रणय प्रभात*
हमारी सभ्यता
Anamika Singh
बुद्ध धम्म हमारा।
Buddha Prakash
सागर ही क्यों
Shivkumar Bilagrami
गीत ग़ज़लें सदा गुनगुनाते रहो।
सत्य कुमार प्रेमी
किस क़दर।
Taj Mohammad
देवर्षि नारद ......जयंती विशेष
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
दुर्गावती:अमर्त्य विरांगना
दीपक झा रुद्रा
यही है भीम की महिमा
Jatashankar Prajapati
“दिव्य दर्शन देवभूमि का” ( यात्रा -संस्मरण )
DrLakshman Jha Parimal
अजब-गजब इन्सान...
डॉ.सीमा अग्रवाल
माँ कात्यायनी
Vandana Namdev
करनी होगी जंग ( गीत)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हज़ारों साल की गुलामी
Shekhar Chandra Mitra
Loading...