Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Mar 2023 · 1 min read

आँख से अपनी अगर शर्म-ओ-हया पूछेगा

आँख से अपनी अगर शर्म-ओ-हया पूछेगा
तो गुनहगार गुनाहों की सज़ा पूछेगा

मेरे महबूब का दीदार मय्यसर हो तो
आँख में दिल को बिठा कर के मज़ा पूछेगा

सोच से मुझपर जहन्नुम को न वाजिब करना
ये वो अल्फ़ाज़ हैं हमसे जो ख़ुदा पूछेगा

रूह बीमार है करले तू अयादत ख़ुद की
बे-सुकूँ क़ल्ब की कब जा के दवा पूछेगा

उलझा रहता है यज़ीदो के ही किस्सो में ‘फ़ुज़ैल’
फिक्र कर ये के ख़ुदा कब्र में क्या पूछेगा

©फ़ुज़ैल सरधनवी

Language: Hindi
2 Likes · 417 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अगर कभी अपनी गरीबी का एहसास हो,अपनी डिग्रियाँ देख लेना।
अगर कभी अपनी गरीबी का एहसास हो,अपनी डिग्रियाँ देख लेना।
Shweta Soni
बेवफा
बेवफा
RAKESH RAKESH
आम आदमी
आम आदमी
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
#लघु_कविता
#लघु_कविता
*Author प्रणय प्रभात*
ख्वाबों में भी तेरा ख्याल मुझे सताता है
ख्वाबों में भी तेरा ख्याल मुझे सताता है
Bhupendra Rawat
*मेरी इच्छा*
*मेरी इच्छा*
Dushyant Kumar
"साधक के गुण"
Yogendra Chaturwedi
*कितनी बार कैलेंडर बदले, साल नए आए हैं (हिंदी गजल)*
*कितनी बार कैलेंडर बदले, साल नए आए हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
चुल्लू भर पानी में
चुल्लू भर पानी में
Satish Srijan
हमें उम्र ने नहीं हालात ने बड़ा किया है।
हमें उम्र ने नहीं हालात ने बड़ा किया है।
Kavi Devendra Sharma
2736. *पूर्णिका*
2736. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चुनिंदा अशआर
चुनिंदा अशआर
Dr fauzia Naseem shad
* आओ ध्यान करें *
* आओ ध्यान करें *
surenderpal vaidya
स्वागत है नवजात भतीजे
स्वागत है नवजात भतीजे
Pooja srijan
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
एक अबोध बालक डॉ अरुण कुमार शास्त्री
एक अबोध बालक डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अगर तलाश करूं कोई मिल जायेगा,
अगर तलाश करूं कोई मिल जायेगा,
शेखर सिंह
"एक दीप जलाना चाहूँ"
Ekta chitrangini
*सेवानिवृत्ति*
*सेवानिवृत्ति*
पंकज कुमार कर्ण
- अब नहीं!!
- अब नहीं!!
Seema gupta,Alwar
वो ही तो यहाँ बदनाम प्यार को करते हैं
वो ही तो यहाँ बदनाम प्यार को करते हैं
gurudeenverma198
ରାତ୍ରିର ବିଳାପ
ରାତ୍ରିର ବିଳାପ
Bidyadhar Mantry
शिव छन्द
शिव छन्द
Neelam Sharma
सिया राम विरह वेदना
सिया राम विरह वेदना
Er.Navaneet R Shandily
सच तो रंग होते हैं।
सच तो रंग होते हैं।
Neeraj Agarwal
जीवन
जीवन
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
👗कैना👗
👗कैना👗
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
"आज का दौर"
Dr. Kishan tandon kranti
फूल कुदरत का उपहार
फूल कुदरत का उपहार
Harish Chandra Pande
रोटियों से भी लड़ी गयी आज़ादी की जंग
रोटियों से भी लड़ी गयी आज़ादी की जंग
कवि रमेशराज
Loading...