Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2024 · 1 min read

अश्क तन्हाई उदासी रह गई – संदीप ठाकुर

अश्क तन्हाई उदासी रह गई
उन दिनों की याद बाक़ी रह गई
मोड़ पे वो आँख से ओझल हुआ
बे-क़रारी राह तकती रह गई
तितली की परवाज़ कैसे देखता
आँख तो रंगों में उलझी रह गई
सपने तो सपने थे सपने ही रहे
ज़िंदगी सपने सजाती रह गई
बाढ़ का पानी तो उतरा है मगर
हर तरफ़ सड़कों पे मिट्टी रह गई
फिर दोबारा दोस्त हम बन तो गए
पर दिलों में थोड़ी तल्ख़ी रह गई
खो गई बचपन की वो मा’सूमियत
जो खिलौनों को तरसती रह गई
शाम ने थक के समेटा तो बदन
धूप फिर भी छत पे बिखरी रह गई
मंज़िलों तक थे मुसाफ़िर हम-सफ़र
राह आख़िर में अकेली रह गई
एक कश्ती दूर साहिल पे खड़ी
बस नदी की लहरें गिनती रह गई

संदीप ठाकुर
Sundeep Thakur

1 Like · 101 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नफ़रतों की बर्फ़ दिल में अब पिघलनी चाहिए।
नफ़रतों की बर्फ़ दिल में अब पिघलनी चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
तुम मेरी
तुम मेरी
Dr fauzia Naseem shad
अमर शहीद भगत सुखदेव राजगुरू
अमर शहीद भगत सुखदेव राजगुरू
Satish Srijan
श्री कृष्ण जन्माष्टमी
श्री कृष्ण जन्माष्टमी
Neeraj Agarwal
"गीत"
Dr. Kishan tandon kranti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*लक्ष्मण-रेखा (कुंडलिया)*
*लक्ष्मण-रेखा (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
*साथ निभाना साथिया*
*साथ निभाना साथिया*
Harminder Kaur
मनुख
मनुख
श्रीहर्ष आचार्य
अछूत....
अछूत....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Gazal 25
Gazal 25
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ख़ाइफ़ है क्यों फ़स्ले बहारांँ, मैं भी सोचूँ तू भी सोच
ख़ाइफ़ है क्यों फ़स्ले बहारांँ, मैं भी सोचूँ तू भी सोच
Sarfaraz Ahmed Aasee
माँ का प्यार है अनमोल
माँ का प्यार है अनमोल
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
জীবন নামক প্রশ্নের বই পড়ে সকল পাতার উত্তর পেয়েছি, কেবল তোমা
জীবন নামক প্রশ্নের বই পড়ে সকল পাতার উত্তর পেয়েছি, কেবল তোমা
Sakhawat Jisan
बांते
बांते
Punam Pande
2898.*पूर्णिका*
2898.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
■ सामयिक सवाल...
■ सामयिक सवाल...
*Author प्रणय प्रभात*
अंधकार जो छंट गया
अंधकार जो छंट गया
Mahender Singh
मुझको कभी भी आज़मा कर देख लेना
मुझको कभी भी आज़मा कर देख लेना
Ram Krishan Rastogi
★मां का प्यार★
★मां का प्यार★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
दिनकर/सूर्य
दिनकर/सूर्य
Vedha Singh
*मेरे दिल में आ जाना*
*मेरे दिल में आ जाना*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सांझा चूल्हा4
सांझा चूल्हा4
umesh mehra
चुनाव 2024
चुनाव 2024
Bodhisatva kastooriya
"एहसासों के दामन में तुम्हारी यादों की लाश पड़ी है,
Aman Kumar Holy
न गिराओ हवाओं मुझे , औकाद में रहो
न गिराओ हवाओं मुझे , औकाद में रहो
कवि दीपक बवेजा
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि का परिचय।
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि का परिचय।
Dr. Narendra Valmiki
अदालत में क्रन्तिकारी मदनलाल धींगरा की सिंह-गर्जना
अदालत में क्रन्तिकारी मदनलाल धींगरा की सिंह-गर्जना
कवि रमेशराज
क्या अब भी तुम न बोलोगी
क्या अब भी तुम न बोलोगी
Rekha Drolia
अंधेरे का डर
अंधेरे का डर
ruby kumari
Loading...