Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#11 Trending Author
Jul 29, 2022 · 1 min read

अमावस के जैसा अंधेरा है इस दिल में,

अमावस के जैसा अंधेरा है इस दिल में,
पूनम के जैसी रोशनी है तुम्हारी,
समंदर के जैसे मझधार है इस दिल में,
सहारे के जैसी कस्ती है तुम्हारी,
मुझमे हर लम्हा तुम हो,
हर कतरे में तुम्हारा ही अहसास है,
लिख दी तुम्हारे नाम अब ये ज़िंदगी भी तुम्हारी।

✍️वैष्णवी गुप्ता
कौशांबी

2 Likes · 2 Comments · 31 Views
You may also like:
यूं तुम मुझमें जज़्ब हो गए हो।
Taj Mohammad
अना दिलों में सभी के....
अश्क चिरैयाकोटी
हैं सितारे खूब, सूरज दूसरा उगता नहीं।
सत्य कुमार प्रेमी
पिता
Mamta Rani
हाइकु:(कोरोना)
Prabhudayal Raniwal
✍️किसान की आत्मकथा✍️
'अशांत' शेखर
कुछ ऐसे बिखरना चाहती हूँ।
Saraswati Bajpai
"अंतिम-सत्य..!"
Prabhudayal Raniwal
✍️आज तारीख 7-7✍️
'अशांत' शेखर
मुझे छल रहे थे
Anamika Singh
यह यादें
Anamika Singh
तड़पती रही मैं सारी रात
Ram Krishan Rastogi
हर गम को ही सह लूंगा।
Taj Mohammad
प्रेम दो दिल की धड़कन है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
लोग कहते हैं कैसा आदमी हूं।
सत्य कुमार प्रेमी
*आजादी का अमृत महोत्सव (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बहाना
Vikas Sharma'Shivaaya'
पर्यावरण
सूर्यकांत द्विवेदी
पत्थर के भगवान
Ashish Kumar
मोहब्बत की दर्द- ए- दास्ताँ
Jyoti Khari
✍️जर्रे में रह जाऊँगा✍️
'अशांत' शेखर
✍️नियत में जा’ल रहा✍️
'अशांत' शेखर
एक असमंजस प्रेम...
Sapna K S
आदमी की आवाज हैं नागार्जुन
Ravi Prakash
ग्रह और शरीर
Vikas Sharma'Shivaaya'
चेहरे पर कई चेहरे ...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
हर ख्वाहिश।
Taj Mohammad
✍️क्या ये विकास है ?✍️
'अशांत' शेखर
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...