Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Jan 2023 · 1 min read

*अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो (देश भक्ति गीत/ सरस्वती वंदना)*

अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो (देश भक्ति गीत/ सरस्वती वंदना)
➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖
अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो
1
एक राष्ट्र जन एक भाव की, हों शुभ अभिलाषाऍं
प्रांतवाद के छुद्र स्वार्थ हों, किंचित सफल न पाऍं
सब हृदयों में देशप्रेम के, आह्लादों को भर दो
2
शुद्ध बनें नदियों के जल, हर ओर स्वच्छता फैले
दिखें न नदियों में गिरते, नालों के पानी मैले
सुंदर स्वच्छ नदी-जल से, मॉं भारत-भर कर दो
3
भेदभाव की हर परिपाटी, अब हम दूर हटाऍं
तन मन वचन प्राण से केवल, भारतीय कहलाऍं
बसा तिरंगे को सॉंसों में, मॉं फहरा घर-घर दो
4
इतनी शक्ति सॅंजोए भारत, नहीं हारने पाए
विजय देश को मिले शत्रु, चाहे जो भी टकराए
भारत के प्रत्येक शत्रु के, भर मन में मॉं डर दो
5
स्वस्थ निरोगी सभी देशवासी हो अब बलशाली
क्लेश-रहित हो जन-मन-जीवन, घर-घर हो खुशहाली
सदाचार से भरा हुआ, भारत को उज्ज्वल स्वर दो
अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो
—————————————-
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

1 Like · 365 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
" मिट्टी के बर्तन "
Pushpraj Anant
आंधी है नए गांधी
आंधी है नए गांधी
Sanjay ' शून्य'
कार्य महान
कार्य महान
surenderpal vaidya
#रामपुर_के_इतिहास_का_स्वर्णिम_पृष्ठ :
#रामपुर_के_इतिहास_का_स्वर्णिम_पृष्ठ :
Ravi Prakash
*** सागर की लहरें....! ***
*** सागर की लहरें....! ***
VEDANTA PATEL
दिल में गहराइयां
दिल में गहराइयां
Dr fauzia Naseem shad
*मनकहताआगेचल*
*मनकहताआगेचल*
Dr. Priya Gupta
‘’ हमनें जो सरताज चुने है ,
‘’ हमनें जो सरताज चुने है ,
Vivek Mishra
कहानी-
कहानी- "खरीदी हुई औरत।" प्रतिभा सुमन शर्मा
Pratibhasharma
बची रहे संवेदना...
बची रहे संवेदना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
यही जीवन है ।
यही जीवन है ।
Rohit yadav
भारत के राम
भारत के राम
करन ''केसरा''
जहां तक तुम सोच सकते हो
जहां तक तुम सोच सकते हो
Ankita Patel
बेपरवाह
बेपरवाह
Omee Bhargava
बे-फ़िक्र ज़िंदगानी
बे-फ़िक्र ज़िंदगानी
Shyam Sundar Subramanian
Outsmart Anxiety
Outsmart Anxiety
पूर्वार्थ
इस संसार में क्या शुभ है और क्या अशुभ है
इस संसार में क्या शुभ है और क्या अशुभ है
शेखर सिंह
जवाब ना दिया
जवाब ना दिया
Madhuyanka Raj
बचा ले मुझे🙏🙏
बचा ले मुझे🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
चल फिर इक बार मिलें हम तुम पहली बार की तरह।
चल फिर इक बार मिलें हम तुम पहली बार की तरह।
Neelam Sharma
ऊपर चढ़ता देख तुम्हें, मुमकिन मेरा खुश हो जाना।
ऊपर चढ़ता देख तुम्हें, मुमकिन मेरा खुश हो जाना।
सत्य कुमार प्रेमी
रिश्ता - दीपक नीलपदम्
रिश्ता - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"अविस्मरणीय"
Dr. Kishan tandon kranti
2991.*पूर्णिका*
2991.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जीवन में सफल होने
जीवन में सफल होने
Dr.Rashmi Mishra
रमेशराज की 11 तेवरियाँ
रमेशराज की 11 तेवरियाँ
कवि रमेशराज
राष्ट्र-हितैषी के रूप में
राष्ट्र-हितैषी के रूप में
*प्रणय प्रभात*
श्री राम मंदिर
श्री राम मंदिर
Mukesh Kumar Sonkar
*Love filters down the soul*
*Love filters down the soul*
Poonam Matia
NUMB
NUMB
Vedha Singh
Loading...