Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 May 2023 · 1 min read

*अभिनंदन हे तर्जनी, तुम पॉंचों में खास (कुंडलिया)*

अभिनंदन हे तर्जनी, तुम पॉंचों में खास (कुंडलिया)
➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖
अभिनंदन हे तर्जनी, तुम पॉंचों में खास
मतदाता पहचान का, गौरव रखतीं पास
गौरव रखतीं पास, वोट देकर तुम आईं
नमन तुम्हारा कार्य, धन्य बस तुम कहलाईं
कहते रवि कविराय, बड़ा सबसे बस यह धन
नीली स्याही युक्त, तर्जनी का अभिनंदन
—————————————
तर्जनी = अंगूठे के पास वाली उंगली को तर्जनी कहते हैं। मतदान करते समय इसी उंगली पर नीली स्याही लगाई जाती है।
—————————————
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

146 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
वेदनामृत
वेदनामृत
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
NeelPadam
NeelPadam
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
प्रजा शक्ति
प्रजा शक्ति
Shashi Mahajan
2526.पूर्णिका
2526.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
खुद को परोस कर..मैं खुद को खा गया
खुद को परोस कर..मैं खुद को खा गया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
शीर्षक – फूलों के सतरंगी आंचल तले,
शीर्षक – फूलों के सतरंगी आंचल तले,
Sonam Puneet Dubey
#करना है, मतदान हमको#
#करना है, मतदान हमको#
Dushyant Kumar
सब को जीनी पड़ेगी ये जिन्दगी
सब को जीनी पड़ेगी ये जिन्दगी
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
दिल का रोग
दिल का रोग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मुझे सहारा नहीं तुम्हारा साथी बनना है,
मुझे सहारा नहीं तुम्हारा साथी बनना है,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
किताब
किताब
Neeraj Agarwal
क़ाफ़िया तुकांत -आर
क़ाफ़िया तुकांत -आर
Yogmaya Sharma
मैंने तो बस उसे याद किया,
मैंने तो बस उसे याद किया,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
या देवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्थिता
या देवी सर्वभूतेषु विद्यारुपेण संस्थिता
Sandeep Kumar
मैं भी कवि
मैं भी कवि
DR ARUN KUMAR SHASTRI
6) जाने क्यों
6) जाने क्यों
पूनम झा 'प्रथमा'
*
*"रक्षाबन्धन"* *"काँच की चूड़ियाँ"*
Radhakishan R. Mundhra
■ सरोकार-
■ सरोकार-
*प्रणय प्रभात*
नौकरी (२)
नौकरी (२)
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
सुन लो बच्चों
सुन लो बच्चों
लक्ष्मी सिंह
झील बनो
झील बनो
Dr. Kishan tandon kranti
जिंदा है हम
जिंदा है हम
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
***
*** " ये दरारों पर मेरी नाव.....! " ***
VEDANTA PATEL
पत्नी के डबल रोल
पत्नी के डबल रोल
Slok maurya "umang"
*देश का हिंदी दिवस, सबसे बड़ा त्यौहार है (गीत)*
*देश का हिंदी दिवस, सबसे बड़ा त्यौहार है (गीत)*
Ravi Prakash
राम
राम
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
कुछ मन की कोई बात लिख दूँ...!
कुछ मन की कोई बात लिख दूँ...!
Aarti sirsat
फिर से अपने चमन में ख़ुशी चाहिए
फिर से अपने चमन में ख़ुशी चाहिए
Monika Arora
हज़ारों चाहने वाले निभाए एक मिल जाए
हज़ारों चाहने वाले निभाए एक मिल जाए
आर.एस. 'प्रीतम'
"ख़ामोशी"
Pushpraj Anant
Loading...