Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 May 2016 · 1 min read

अपना साथ दे दो

*****
“प्यासी है मन की धरा
नेह की बरसात दे दो।।
अंजुमन की रागिनी ने
प्रेम का है गीत गाया
खिल उठी मन की कली
कौन सा मौसम है आया
सिंदुरी हो जाए जीवन
कोई ऐसी बात कह दो
प्यासी है मन की धरा
नेह की बरसात दे दो।।
मीत मेरे हो तुम्ही तो
प्रीति मेरी है तुम्हारी
साथ में अब हर जनम हां
जिंदगी बीते हमारी
चांद तुम हो हम सितारे
कोई ऐसी रात दे दो
प्यासी है मन की धरा
नेह की बरसात दे दो।।।”

अंकिता

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 5 Comments · 540 Views
You may also like:
आया शरद पूर्णिमा की महारास
लक्ष्मी सिंह
मेरे पीछे जमाना चले ओर आगे गन-धारी दो वीर हो!
Suraj kushwaha
खबर हादसे की
AJAY AMITABH SUMAN
मुखौटा
Anamika Singh
यादों से छुटकारा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*थियोसॉफिकल सोसायटी : एक परिचय*
Ravi Prakash
मत्तगयंद सवैया छंद
संजीव शुक्ल 'सचिन'
पतंग
सूर्यकांत द्विवेदी
जगत का जंजाल-संसृति
Shivraj Anand
प्रीति के दोहे, भाग-1
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सच कहते हैं, जिम्मेदारियां सोने नहीं देती
Seema 'Tu hai na'
सार्थक हो जिसका
Dr fauzia Naseem shad
प्रश्न चिन्ह
Shyam Sundar Subramanian
गंगा
डॉ. रजनी अग्रवाल 'वाग्देवी रत्ना'
अनगढ़ हीरा
Shekhar Chandra Mitra
क्यों इतना मुश्किल है
Kaur Surinder
गाफिल।
Taj Mohammad
वक्त
Harshvardhan "आवारा"
आंख ऊपर न उठी...
Shivkumar Bilagrami
✍️दिल चाहता...
'अशांत' शेखर
🚩 वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
* तेरी चाहत बन जाऊंगा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सपेरा
Buddha Prakash
" शैतान रोमी "
Dr Meenu Poonia
क्लास विच हिन्दी बोलनी चाहिदी
विनोद सिल्ला
■ अन्वेषण_विश्लेषण
*Author प्रणय प्रभात*
-- मृत्यु जबकि अटल है --
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
पंजाबी गीत
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मतलब नहीं इससे हमको
gurudeenverma198
मांग रहा हूँ जिनसे उत्तर...
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
Loading...