Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Apr 2024 · 1 min read

अजीब करामात है

अजीब करामात है
ये 33 करोड़ देवी देवता
सिर्फ टेलीविजन पर ही क्यों चमत्कार दिखाते हैं।
कभी कभा जन जन मे भी करिश्मा दिखाओ गुरु

55 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मंथन
मंथन
Shyam Sundar Subramanian
#शीर्षक- 55 वर्ष, बचपन का पंखा
#शीर्षक- 55 वर्ष, बचपन का पंखा
Anil chobisa
‘ विरोधरस ‘---4. ‘विरोध-रस’ के अन्य आलम्बन- +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---4. ‘विरोध-रस’ के अन्य आलम्बन- +रमेशराज
कवि रमेशराज
ये जाति और ये मजहब दुकान थोड़ी है।
ये जाति और ये मजहब दुकान थोड़ी है।
सत्य कुमार प्रेमी
जीवन
जीवन
Santosh Shrivastava
रिश्ता
रिश्ता
Dr fauzia Naseem shad
*सॉंप और सीढ़ी का देखो, कैसा अद्भुत खेल (हिंदी गजल)*
*सॉंप और सीढ़ी का देखो, कैसा अद्भुत खेल (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
जीने की राह
जीने की राह
Madhavi Srivastava
तितली
तितली
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
विवेकवान मशीन
विवेकवान मशीन
Sandeep Pande
హాస్య కవిత
హాస్య కవిత
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
कर्मफल भोग
कर्मफल भोग
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
ग़म भूल जाइए,होली में अबकी बार
ग़म भूल जाइए,होली में अबकी बार
Shweta Soni
मैं प्रगति पर हूँ ( मेरी विडम्बना )
मैं प्रगति पर हूँ ( मेरी विडम्बना )
VINOD CHAUHAN
नया  साल  नई  उमंग
नया साल नई उमंग
राजेंद्र तिवारी
आकर्षण गति पकड़ता है और क्षण भर ठहरता है
आकर्षण गति पकड़ता है और क्षण भर ठहरता है
शेखर सिंह
बाप के ब्रह्मभोज की पूड़ी
बाप के ब्रह्मभोज की पूड़ी
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
अब छोड़ दिया है हमने तो
अब छोड़ दिया है हमने तो
gurudeenverma198
2698.*पूर्णिका*
2698.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नम आंखे बचपन खोए
नम आंखे बचपन खोए
Neeraj Mishra " नीर "
** मुक्तक **
** मुक्तक **
surenderpal vaidya
विपक्ष जो बांटे
विपक्ष जो बांटे
*Author प्रणय प्रभात*
प्रकृति ने
प्रकृति ने
Dr. Kishan tandon kranti
तुम्हें प्यार करते हैं
तुम्हें प्यार करते हैं
Mukesh Kumar Sonkar
आप तो गुलाब है,कभी बबूल न बनिए
आप तो गुलाब है,कभी बबूल न बनिए
Ram Krishan Rastogi
इंसान तो मैं भी हूं लेकिन मेरे व्यवहार और सस्कार
इंसान तो मैं भी हूं लेकिन मेरे व्यवहार और सस्कार
Ranjeet kumar patre
नन्हीं सी प्यारी कोकिला
नन्हीं सी प्यारी कोकिला
जगदीश लववंशी
💐प्रेम कौतुक-561💐
💐प्रेम कौतुक-561💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जंग के भरे मैदानों में शमशीर बदलती देखी हैं
जंग के भरे मैदानों में शमशीर बदलती देखी हैं
Ajad Mandori
Loading...