Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 May 2022 · 1 min read

अजब कहानी है।

बेपरवाह बचपन है,
खुशियों से भरी ये जवानी है।।

तन्हाई का बुढ़ापा है,
जिंदगी की अजब कहानी है।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

Language: Hindi
Tag: शेर
1 Like · 398 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हवा बहुत सर्द है
हवा बहुत सर्द है
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
पल पल रंग बदलती है दुनिया
पल पल रंग बदलती है दुनिया
Ranjeet kumar patre
"ना भूलें"
Dr. Kishan tandon kranti
उम्मीद नहीं थी
उम्मीद नहीं थी
Surinder blackpen
पसंद प्यार
पसंद प्यार
Otteri Selvakumar
नसीहत
नसीहत
Shivkumar Bilagrami
Go wherever, but only so far,
Go wherever, but only so far,"
पूर्वार्थ
मुस्कुराने लगे है
मुस्कुराने लगे है
Paras Mishra
2730.*पूर्णिका*
2730.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सम्मान
सम्मान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मैं तुम्हारे बारे में नहीं सोचूँ,
मैं तुम्हारे बारे में नहीं सोचूँ,
Sukoon
शाम
शाम
N manglam
दिल  धड़कने लगा जब तुम्हारे लिए।
दिल धड़कने लगा जब तुम्हारे लिए।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
जीत कहां ऐसे मिलती है।
जीत कहां ऐसे मिलती है।
नेताम आर सी
खेल और राजनीती
खेल और राजनीती
'अशांत' शेखर
होंसला
होंसला
Shutisha Rajput
विश्व पर्यावरण दिवस
विश्व पर्यावरण दिवस
Ram Krishan Rastogi
सावन
सावन
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हम छि मिथिला के बासी,
हम छि मिथिला के बासी,
Ram Babu Mandal
कुछ लोग हेलमेट उतारे बिना
कुछ लोग हेलमेट उतारे बिना
*Author प्रणय प्रभात*
जीनगी हो गइल कांट
जीनगी हो गइल कांट
Dhirendra Panchal
एक कुआ पुराना सा.. जिसको बने बीत गया जमाना सा..
एक कुआ पुराना सा.. जिसको बने बीत गया जमाना सा..
Shubham Pandey (S P)
আজ রাতে তোমায় শেষ চিঠি লিখবো,
আজ রাতে তোমায় শেষ চিঠি লিখবো,
Sakhawat Jisan
उम्मीद कभी तू ऐसी मत करना
उम्मीद कभी तू ऐसी मत करना
gurudeenverma198
विद्यावाचस्पति Ph.D हिन्दी
विद्यावाचस्पति Ph.D हिन्दी
Mahender Singh
खोया हुआ वक़्त
खोया हुआ वक़्त
Sidhartha Mishra
“ जियो और जीने दो ”
“ जियो और जीने दो ”
DrLakshman Jha Parimal
आइए मोड़ें समय की धार को
आइए मोड़ें समय की धार को
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
नारी शक्ति
नारी शक्ति
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*राम-सिया के शुभ विवाह को, सौ-सौ बार प्रणाम है (गीत)*
*राम-सिया के शुभ विवाह को, सौ-सौ बार प्रणाम है (गीत)*
Ravi Prakash
Loading...