Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Nov 2022 · 1 min read

अकेली औरत

पिता की पगड़ी,
भाई की नाक
या पति की मूंछ
किस-किसको
बचाती फिरे
अकेली औरत?
#नौजवान #revolutionary
#POEMS #youth #शायरी
#Feminism #स्त्रीविमर्श #girls
#women #life #Freedom
#Patriarchy #Feudalism
#मनुवाद #विद्रोह #Rebel #love

Language: Hindi
604 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
स्वरचित कविता..✍️
स्वरचित कविता..✍️
Shubham Pandey (S P)
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ऊपर चढ़ता देख तुम्हें, मुमकिन मेरा खुश होना।
ऊपर चढ़ता देख तुम्हें, मुमकिन मेरा खुश होना।
सत्य कुमार प्रेमी
टफी कुतिया पे मन आया
टफी कुतिया पे मन आया
Surinder blackpen
*जीवन सिखाता है लेकिन चुनौतियां पहले*
*जीवन सिखाता है लेकिन चुनौतियां पहले*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बुद्ध भक्त सुदत्त
बुद्ध भक्त सुदत्त
Buddha Prakash
गज़ल सी रचना
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
सुबह की चाय है इश्क,
सुबह की चाय है इश्क,
Aniruddh Pandey
है तो है
है तो है
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
"मेरी नज्मों में"
Dr. Kishan tandon kranti
*मित्र हमारा है व्यापारी (बाल कविता)*
*मित्र हमारा है व्यापारी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
मित्र
मित्र
लक्ष्मी सिंह
J
J
Jay Dewangan
आँगन में एक पेड़ चाँदनी....!
आँगन में एक पेड़ चाँदनी....!
singh kunwar sarvendra vikram
#हृदय_दिवस_पर
#हृदय_दिवस_पर
*Author प्रणय प्रभात*
गांव - माँ का मंदिर
गांव - माँ का मंदिर
नवीन जोशी 'नवल'
न तोड़ दिल ये हमारा सहा न जाएगा
न तोड़ दिल ये हमारा सहा न जाएगा
Dr Archana Gupta
कौड़ी कौड़ी माया जोड़े, रटले राम का नाम।
कौड़ी कौड़ी माया जोड़े, रटले राम का नाम।
Anil chobisa
काली हवा ( ये दिल्ली है मेरे यार...)
काली हवा ( ये दिल्ली है मेरे यार...)
Manju Singh
कहें किसे क्या आजकल, सब मर्जी के मीत ।
कहें किसे क्या आजकल, सब मर्जी के मीत ।
sushil sarna
फितरत,,,
फितरत,,,
Bindravn rai Saral
धानी चूनर में लिपटी है धरती जुलाई में
धानी चूनर में लिपटी है धरती जुलाई में
Anil Mishra Prahari
ख़ाइफ़ है क्यों फ़स्ले बहारांँ, मैं भी सोचूँ तू भी सोच
ख़ाइफ़ है क्यों फ़स्ले बहारांँ, मैं भी सोचूँ तू भी सोच
Sarfaraz Ahmed Aasee
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
प्यार है,पावन भी है ।
प्यार है,पावन भी है ।
Dr. Man Mohan Krishna
भावनाओं का प्रबल होता मधुर आधार।
भावनाओं का प्रबल होता मधुर आधार।
surenderpal vaidya
रोज आते कन्हैया_ मेरे ख्वाब मैं
रोज आते कन्हैया_ मेरे ख्वाब मैं
कृष्णकांत गुर्जर
गांधी और गोडसे में तुम लोग किसे चुनोगे?
गांधी और गोडसे में तुम लोग किसे चुनोगे?
Shekhar Chandra Mitra
खुद से भी सवाल कीजिए
खुद से भी सवाल कीजिए
Mahetaru madhukar
जीवन का सच
जीवन का सच
Neeraj Agarwal
Loading...