Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Mar 2023 · 1 min read

Wishing power and expectation

Tumko taare Jamin pe chahiye the
Par mujhe to taare aur jamin dono chahiye

2 Likes · 330 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्यार के ढाई अक्षर
प्यार के ढाई अक्षर
Juhi Grover
"वक्त के साथ"
Dr. Kishan tandon kranti
संकल्प
संकल्प
Shyam Sundar Subramanian
हमारे बुजुर्ग
हमारे बुजुर्ग
Indu Singh
*पानी केरा बुदबुदा*
*पानी केरा बुदबुदा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
!! जलता हुआ चिराग़ हूँ !!
!! जलता हुआ चिराग़ हूँ !!
Chunnu Lal Gupta
3013.*पूर्णिका*
3013.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
निरन्तरता ही जीवन है चलते रहिए
निरन्तरता ही जीवन है चलते रहिए
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
काश कभी ऐसा हो पाता
काश कभी ऐसा हो पाता
Rajeev Dutta
*राम-सिया के शुभ विवाह को, सौ-सौ बार प्रणाम है (गीत)*
*राम-सिया के शुभ विवाह को, सौ-सौ बार प्रणाम है (गीत)*
Ravi Prakash
कुछ ख़त्म करना भी जरूरी था,
कुछ ख़त्म करना भी जरूरी था,
पूर्वार्थ
दस लक्षण पर्व
दस लक्षण पर्व
Seema gupta,Alwar
रात भर नींद भी नहीं आई
रात भर नींद भी नहीं आई
Shweta Soni
"ताले चाबी सा रखो,
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
सियासत कमतर नहीं शतरंज के खेल से ,
सियासत कमतर नहीं शतरंज के खेल से ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
क्या आप उन्हीं में से एक हैं
क्या आप उन्हीं में से एक हैं
ruby kumari
अगहन कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को उत्पन्ना एकादशी के
अगहन कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को उत्पन्ना एकादशी के
Shashi kala vyas
बिना आमन्त्रण के
बिना आमन्त्रण के
gurudeenverma198
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
जिंदगी एक सफर
जिंदगी एक सफर
Neeraj Agarwal
ज़माने   को   समझ   बैठा,  बड़ा   ही  खूबसूरत है,
ज़माने को समझ बैठा, बड़ा ही खूबसूरत है,
संजीव शुक्ल 'सचिन'
बुंदेली दोहा गरे गौ (भाग-2)
बुंदेली दोहा गरे गौ (भाग-2)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ये आंखें जब भी रोएंगी तुम्हारी याद आएगी।
ये आंखें जब भी रोएंगी तुम्हारी याद आएगी।
Phool gufran
उड़ानों का नहीं मतलब, गगन का नूर हो जाना।
उड़ानों का नहीं मतलब, गगन का नूर हो जाना।
डॉ.सीमा अग्रवाल
अमृत वचन
अमृत वचन
Dinesh Kumar Gangwar
***कृष्णा ***
***कृष्णा ***
Kavita Chouhan
भटक रहे अज्ञान में,
भटक रहे अज्ञान में,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
भय आपको सत्य से दूर करता है, चाहे वो स्वयं से ही भय क्यों न
भय आपको सत्य से दूर करता है, चाहे वो स्वयं से ही भय क्यों न
Ravikesh Jha
किस लिए पास चले आए अदा किसकी थी
किस लिए पास चले आए अदा किसकी थी
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
"When the storms of life come crashing down, we cannot contr
Manisha Manjari
Loading...