Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jul 2023 · 1 min read

Tumhari sasti sadak ki mohtaz nhi mai,

Tumhari sasti sadak ki mohtaz nhi mai,
Phoolo ki tamanna me kato ka vyapar nhi mai.
Jb chaha dil lagaya, jb man hua dillagi ki,
Tum kitna bhi chaho ab tumhare intajar me nhi mai .

147 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"बदलते रसरंग"
Dr. Kishan tandon kranti
वह सिर्फ पिता होता है
वह सिर्फ पिता होता है
Dinesh Gupta
मतदान करो मतदान करो
मतदान करो मतदान करो
Er. Sanjay Shrivastava
प्रेम का अंधा उड़ान✍️✍️
प्रेम का अंधा उड़ान✍️✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
प्रतीक्षा में गुजरते प्रत्येक क्षण में मर जाते हैं ना जाने क
प्रतीक्षा में गुजरते प्रत्येक क्षण में मर जाते हैं ना जाने क
पूर्वार्थ
शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया
शमशान की राख देखकर मन में एक खयाल आया
शेखर सिंह
गिला,रंजिशे नाराजगी, होश मैं सब रखते है ,
गिला,रंजिशे नाराजगी, होश मैं सब रखते है ,
गुप्तरत्न
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
Dr fauzia Naseem shad
"सुप्रभात "
Yogendra Chaturwedi
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
#मुक्तक
#मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
जीवन में
जीवन में
ओंकार मिश्र
फूल मोंगरा
फूल मोंगरा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जिंदगी एक चादर है
जिंदगी एक चादर है
Ram Krishan Rastogi
*बताओं जरा (मुक्तक)*
*बताओं जरा (मुक्तक)*
Rituraj shivem verma
वस्तु काल्पनिक छोड़कर,
वस्तु काल्पनिक छोड़कर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
एक अलग ही दुनिया
एक अलग ही दुनिया
Sangeeta Beniwal
बात
बात
Shyam Sundar Subramanian
तू सच में एक दिन लौट आएगी मुझे मालूम न था…
तू सच में एक दिन लौट आएगी मुझे मालूम न था…
Anand Kumar
"प्यार की कहानी "
Pushpraj Anant
मित्र कौन है??
मित्र कौन है??
Ankita Patel
फितरत
फितरत
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
हर मौहब्बत का एहसास तुझसे है।
हर मौहब्बत का एहसास तुझसे है।
Phool gufran
The OCD Psychologist
The OCD Psychologist
मोहित शर्मा ज़हन
कर्म-बीज
कर्म-बीज
Ramswaroop Dinkar
अपने हुए पराए लाखों जीवन का यही खेल है
अपने हुए पराए लाखों जीवन का यही खेल है
प्रेमदास वसु सुरेखा
जय मातु! ब्रह्मचारिणी,
जय मातु! ब्रह्मचारिणी,
Neelam Sharma
परिवार
परिवार
Neeraj Agarwal
अशोक चाँद पर
अशोक चाँद पर
Satish Srijan
Loading...