Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Oct 2023 · 1 min read

Thought

Thought

Effort is the only key factor to succeed in every sphere of life. This has no other alternative or substitute. So create opportunities and execute with sincere effort to reach the goal.

Anil Kumar Gupta “Anjum”

1 Like · 157 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
View all
You may also like:
यह उँचे लोगो की महफ़िल हैं ।
यह उँचे लोगो की महफ़िल हैं ।
Ashwini sharma
मूर्दों का देश
मूर्दों का देश
Shekhar Chandra Mitra
जीवन से जैसे कोई
जीवन से जैसे कोई
Dr fauzia Naseem shad
कितनी खास हो तुम
कितनी खास हो तुम
आकांक्षा राय
शून्य ....
शून्य ....
sushil sarna
प्रोत्साहन
प्रोत्साहन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
परिवार
परिवार
Neeraj Agarwal
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सबको सिर्फ़ चमकना है अंधेरा किसी को नहीं चाहिए।
सबको सिर्फ़ चमकना है अंधेरा किसी को नहीं चाहिए।
Harsh Nagar
"एक सवाल"
Dr. Kishan tandon kranti
*** अहसास...!!! ***
*** अहसास...!!! ***
VEDANTA PATEL
सच में शक्ति अकूत
सच में शक्ति अकूत
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
बस का सफर
बस का सफर
Ms.Ankit Halke jha
दादी की वह बोरसी
दादी की वह बोरसी
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
यकीन
यकीन
Sidhartha Mishra
"आज की रात "
Pushpraj Anant
🌹जादू उसकी नजरों का🌹
🌹जादू उसकी नजरों का🌹
SPK Sachin Lodhi
चाटुकारिता
चाटुकारिता
Radha shukla
जनसंख्या है भार, देश हो विकसित कैसे(कुन्डलिया)
जनसंख्या है भार, देश हो विकसित कैसे(कुन्डलिया)
Ravi Prakash
लहजा
लहजा
Naushaba Suriya
23/44.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/44.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
भैंस के आगे बीन बजाना
भैंस के आगे बीन बजाना
Vishnu Prasad 'panchotiya'
" तुम खुशियाँ खरीद लेना "
Aarti sirsat
■ क़तआ (मुक्तक)
■ क़तआ (मुक्तक)
*Author प्रणय प्रभात*
परछाइयों के शहर में
परछाइयों के शहर में
Surinder blackpen
उल्लास
उल्लास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
क्यों न्यौतें दुख असीम
क्यों न्यौतें दुख असीम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
फितरत
फितरत
Srishty Bansal
जय श्री राम
जय श्री राम
Neha
खुद से ही बातें कर लेता हूं , तुम्हारी
खुद से ही बातें कर लेता हूं , तुम्हारी
श्याम सिंह बिष्ट
Loading...