Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2023 · 1 min read

The life is too small to love you,

The life is too small to love you,
The smile is too short to express you
My ambition is too determinated to keep you
So the entire world cannot see you .
😍 by sakshi

28 Views
You may also like:
स्वाद
स्वाद
Santosh Shrivastava
अपना घर
अपना घर
Shyam Sundar Subramanian
✍️'रामराज्य'
✍️'रामराज्य'
'अशांत' शेखर
# जिंदगी ......
# जिंदगी ......
Chinta netam " मन "
माता रानी की भेंट
माता रानी की भेंट
umesh mehra
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Magical world ☆☆☆
Magical world ☆☆☆
ASHISH KUMAR SINGH
कुछ मुझको लिखा होता
कुछ मुझको लिखा होता
Dr fauzia Naseem shad
बनेड़ा रै इतिहास री इक झिळक.............
बनेड़ा रै इतिहास री इक झिळक.............
लक्की सिंह चौहान
#शर्माजी के शब्द
#शर्माजी के शब्द
pravin sharma
वो बोली - अलविदा ज़ाना
वो बोली - अलविदा ज़ाना
bhandari lokesh
दो पल की जिन्दगी मिली ,
दो पल की जिन्दगी मिली ,
Nishant prakhar
✍️खामोश लबों को ✍️
✍️खामोश लबों को ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
अच्छाई ऐसी क्या है तुझमें
अच्छाई ऐसी क्या है तुझमें
gurudeenverma198
तपस्या और प्रेम की साकार प्रतिमा है 'नारी'
तपस्या और प्रेम की साकार प्रतिमा है 'नारी'
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Rashmi Sanjay
व्यंग्य- प्रदूषण वाली दीवाली
व्यंग्य- प्रदूषण वाली दीवाली
जयति जैन 'नूतन'
तुम अपने खुदा पर यकीन रखते हों
तुम अपने खुदा पर यकीन रखते हों
shabina. Naaz
तुमको ख़त में क्या लिखूं..?
तुमको ख़त में क्या लिखूं..?
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कबीर की शायरी
कबीर की शायरी
Shekhar Chandra Mitra
मुझे आने तो दो
मुझे आने तो दो
Satish Srijan
एक दिया जलाये
एक दिया जलाये
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
ग़ज़ल
ग़ज़ल
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अब नहीं दिल धड़कता है उस तरह से
अब नहीं दिल धड़कता है उस तरह से
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
नववर्ष तुम्हे मंगलमय हो
Ram Krishan Rastogi
नौकरी
नौकरी
Buddha Prakash
💐💐संसारस्य सर्वे सम्बन्धा: परस्पर: सेवाया: कृते💐💐
💐💐संसारस्य सर्वे सम्बन्धा: परस्पर: सेवाया: कृते💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
शब्द सारे ही लौट आए हैं
शब्द सारे ही लौट आए हैं
Ranjana Verma
*सर्दी में बारिश हुई, बचकर रहिए आप (दोहा-गीतिका)*
*सर्दी में बारिश हुई, बचकर रहिए आप (दोहा-गीतिका)*
Ravi Prakash
■ आज का विचार
■ आज का विचार
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...