Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Mar 2023 · 1 min read

The bestest education one can deliver is humanity and achie

The bestest education one can deliver is humanity and achievement is karma.

1 Like · 116 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बरसें प्रभुता-मेह...
बरसें प्रभुता-मेह...
डॉ.सीमा अग्रवाल
~~बस यूँ ही~~
~~बस यूँ ही~~
Dr Manju Saini
बाबा साहब आम्बेडकर
बाबा साहब आम्बेडकर
Aditya Prakash
Loneliness in holi
Loneliness in holi
Ankita Patel
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
शक्ति राव मणि
वास्तविक प्रकाशक
वास्तविक प्रकाशक
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सिंहावलोकन घनाक्षरी*
सिंहावलोकन घनाक्षरी*
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
धुवाँ (SMOKE)
धुवाँ (SMOKE)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
"जिन्हें तैरना नहीं आता
*Author प्रणय प्रभात*
💐प्रेम कौतुक-470💐
💐प्रेम कौतुक-470💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
विद्या देती है विनय, शुद्ध  सुघर व्यवहार ।
विद्या देती है विनय, शुद्ध सुघर व्यवहार ।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
साधा जिसने मौन को, पाता कभी न शोक (कुंडलिया)
साधा जिसने मौन को, पाता कभी न शोक (कुंडलिया)
Ravi Prakash
बहकी बहकी बातें करना
बहकी बहकी बातें करना
Surinder blackpen
१.भगवान  श्री कृष्ण  अर्जुन के ही सारथि नही थे वे तो पूरे वि
१.भगवान श्री कृष्ण अर्जुन के ही सारथि नही थे वे तो पूरे वि
Piyush Goel
सभी मां बाप को सादर समर्पित 🌹🙏
सभी मां बाप को सादर समर्पित 🌹🙏
सत्य कुमार प्रेमी
मैंने कहा मुझे कयामत देखनी है ,
मैंने कहा मुझे कयामत देखनी है ,
Vishal babu (vishu)
Maine anshan jari rakha
Maine anshan jari rakha
Sakshi Tripathi
दिल का खेल
दिल का खेल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
धैर्य धरोगे मित्र यदि,
धैर्य धरोगे मित्र यदि,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अजनबी बनकर आये थे हम तेरे इस शहर मे,
अजनबी बनकर आये थे हम तेरे इस शहर मे,
डी. के. निवातिया
जिंदगी के कोरे कागज पर कलम की नोक ज्यादा तेज है...
जिंदगी के कोरे कागज पर कलम की नोक ज्यादा तेज है...
कवि दीपक बवेजा
यूं जो उसको तकते हो।
यूं जो उसको तकते हो।
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
स्वप्न विवेचना -ज्योतिषीय शोध लेख
स्वप्न विवेचना -ज्योतिषीय शोध लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दीपावली
दीपावली
डॉ. शिव लहरी
क्या यही प्यार है
क्या यही प्यार है
gurudeenverma198
*अंजनी के लाल*
*अंजनी के लाल*
Shashi kala vyas
मुझे कल्पनाओं से हटाकर मेरा नाता सच्चाई से जोड़ता है,
मुझे कल्पनाओं से हटाकर मेरा नाता सच्चाई से जोड़ता है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
प्रभु नृसिंह जी
प्रभु नृसिंह जी
Anil chobisa
जनता की कमाई गाढी
जनता की कमाई गाढी
Bodhisatva kastooriya
जन्मदिन की शुभकामना
जन्मदिन की शुभकामना
Satish Srijan
Loading...