Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Sep 2023 · 1 min read

STAY SINGLE

” STAY SINGLE ”

Being Single is not so rude,
It’s quite healthy & stress-free dude !
Be mingled and get depressed,
If you wanna be suppressed.

Some will say Singles are fool,
We’re happy, we’re cool.
Don’t do drama and let me nail,
These are tactics, they will fail.

Attractions may bring conflict,
This is what you can’t predict,
Be focused on what’s your dream !
That is what your parents deem.

✍ Saransh Singh ‘Priyam’

2 Likes · 237 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एक पीर उठी थी मन में, फिर भी मैं चीख ना पाया ।
एक पीर उठी थी मन में, फिर भी मैं चीख ना पाया ।
आचार्य वृन्दान्त
" *लम्हों में सिमटी जिंदगी* ""
सुनीलानंद महंत
बस एक प्रहार कटु वचन का - मन बर्फ हो जाए
बस एक प्रहार कटु वचन का - मन बर्फ हो जाए
Atul "Krishn"
"साइंस ग्रुप के समान"
Dr. Kishan tandon kranti
2442.पूर्णिका
2442.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
इक ज़िंदगी मैंने गुजारी है
इक ज़िंदगी मैंने गुजारी है
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
"बचपन याद आ रहा"
Sandeep Kumar
जीवन मर्म
जीवन मर्म
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
सुप्रभात
सुप्रभात
डॉक्टर रागिनी
ज़िंदगी की दौड़
ज़िंदगी की दौड़
Dr. Rajeev Jain
Love Night
Love Night
Bidyadhar Mantry
तस्वीर!
तस्वीर!
कविता झा ‘गीत’
मेरा भारत
मेरा भारत
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
लगाव का चिराग बुझता नहीं
लगाव का चिराग बुझता नहीं
Seema gupta,Alwar
मुझे साहित्य का ज्यादा ज्ञान नहीं है। न ही साहित्य मेरा विषय
मुझे साहित्य का ज्यादा ज्ञान नहीं है। न ही साहित्य मेरा विषय
Sonam Puneet Dubey
दो ही हमसफर मिले जिन्दगी में..
दो ही हमसफर मिले जिन्दगी में..
Vishal babu (vishu)
जिंदगी मुझसे हिसाब मांगती है ,
जिंदगी मुझसे हिसाब मांगती है ,
Shyam Sundar Subramanian
पिता के बिना सन्तान की, होती नहीं पहचान है
पिता के बिना सन्तान की, होती नहीं पहचान है
gurudeenverma198
किताब
किताब
Neeraj Agarwal
करबो हरियर भुंईया
करबो हरियर भुंईया
Mahetaru madhukar
नेता जी शोध लेख
नेता जी शोध लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
रगणाश्रित : गुणांक सवैया
रगणाश्रित : गुणांक सवैया
Sushila joshi
रमेशराज की माँ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की माँ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
तेरे हम है
तेरे हम है
Dinesh Kumar Gangwar
इंद्रधनुष सी जिंदगी
इंद्रधनुष सी जिंदगी
Dr Parveen Thakur
चरित्र साफ शब्दों में कहें तो आपके मस्तिष्क में समाहित विचार
चरित्र साफ शब्दों में कहें तो आपके मस्तिष्क में समाहित विचार
Rj Anand Prajapati
5 किलो मुफ्त के राशन का थैला हाथ में लेकर खुद को विश्वगुरु क
5 किलो मुफ्त के राशन का थैला हाथ में लेकर खुद को विश्वगुरु क
शेखर सिंह
#सामयिक_गीत :-
#सामयिक_गीत :-
*प्रणय प्रभात*
जीवन की रंगीनियत
जीवन की रंगीनियत
Dr Mukesh 'Aseemit'
बड़ा मायूस बेचारा लगा वो।
बड़ा मायूस बेचारा लगा वो।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...