Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Apr 2022 · 1 min read

My Expressions

Straight Forward attitude may lead to resentment in the beginning but will be helpful in the long run.

Language: English
Tag: Quotation
3 Likes · 644 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
ग़ज़ल _रखोगे कब तलक जिंदा....
ग़ज़ल _रखोगे कब तलक जिंदा....
शायर देव मेहरानियां
---- विश्वगुरु ----
---- विश्वगुरु ----
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
इस जमाने जंग को,
इस जमाने जंग को,
Dr. Man Mohan Krishna
कहीं खूबियां में भी खामियां निकाली जाती है, वहीं कहीं  कमियो
कहीं खूबियां में भी खामियां निकाली जाती है, वहीं कहीं कमियो
Ragini Kumari
अपना मन
अपना मन
Harish Chandra Pande
दिल का रोग
दिल का रोग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Dr. Arun Kumar Shastri
Dr. Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
कवि दीपक बवेजा
तू ठहर जा मेरे पास, सिर्फ आज की रात
तू ठहर जा मेरे पास, सिर्फ आज की रात
gurudeenverma198
नये गीत गायें
नये गीत गायें
Arti Bhadauria
जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल
जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*Author प्रणय प्रभात*
बाल कविता : काले बादल
बाल कविता : काले बादल
Rajesh Kumar Arjun
2442.पूर्णिका
2442.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
शिक्षक हमारे देश के
शिक्षक हमारे देश के
Bhaurao Mahant
मां महागौरी
मां महागौरी
Mukesh Kumar Sonkar
वसुधा में होगी जब हरियाली।
वसुधा में होगी जब हरियाली।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
हुकुम की नई हिदायत है
हुकुम की नई हिदायत है
Ajay Mishra
कितनी मासूम
कितनी मासूम
हिमांशु Kulshrestha
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
गरम समोसा खा रहा , पूरा हिंदुस्तान(कुंडलिया)
गरम समोसा खा रहा , पूरा हिंदुस्तान(कुंडलिया)
Ravi Prakash
दिल से निभाती हैं ये सारी जिम्मेदारियां
दिल से निभाती हैं ये सारी जिम्मेदारियां
Ajad Mandori
फुटपाथों पर लोग रहेंगे
फुटपाथों पर लोग रहेंगे
Chunnu Lal Gupta
करवाचौथ
करवाचौथ
Neeraj Agarwal
यह उँचे लोगो की महफ़िल हैं ।
यह उँचे लोगो की महफ़िल हैं ।
Ashwini sharma
जीना सिखा दिया
जीना सिखा दिया
Basant Bhagawan Roy
बदलती फितरत
बदलती फितरत
Sûrëkhâ Rãthí
** गर्मी है पुरजोर **
** गर्मी है पुरजोर **
surenderpal vaidya
तुम कहते हो राम काल्पनिक है
तुम कहते हो राम काल्पनिक है
Harinarayan Tanha
मैकदे को जाता हूँ,
मैकदे को जाता हूँ,
Satish Srijan
Loading...