Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 May 2023 · 1 min read

Keep saying something, and keep writing something of yours!

Keep saying something, and keep writing something of yours!
Whether someone reads it or not, keep saying something more!!@Parimal

411 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"आभास " हिन्दी ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मित्र होना चाहिए
मित्र होना चाहिए
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
सदा बेड़ा होता गर्क
सदा बेड़ा होता गर्क
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
चार यार
चार यार
Bodhisatva kastooriya
बह्र 2212 122 मुसतफ़इलुन फ़ऊलुन काफ़िया -आ रदीफ़ -रहा है
बह्र 2212 122 मुसतफ़इलुन फ़ऊलुन काफ़िया -आ रदीफ़ -रहा है
Neelam Sharma
मौन
मौन
Shyam Sundar Subramanian
O God, I'm Your Son
O God, I'm Your Son
VINOD CHAUHAN
कण कण में है श्रीराम
कण कण में है श्रीराम
Santosh kumar Miri
फर्क तो पड़ता है
फर्क तो पड़ता है
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*यूँ आग लगी प्यासे तन में*
*यूँ आग लगी प्यासे तन में*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
तुम्हारी जाति ही है दोस्त / VIHAG VAIBHAV
तुम्हारी जाति ही है दोस्त / VIHAG VAIBHAV
Dr MusafiR BaithA
आ ठहर विश्राम कर ले।
आ ठहर विश्राम कर ले।
सरोज यादव
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
2323.पूर्णिका
2323.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
शाम के ढलते
शाम के ढलते
manjula chauhan
जिंदगी का सफर है सुहाना, हर पल को जीते रहना। चाहे रिश्ते हो
जिंदगी का सफर है सुहाना, हर पल को जीते रहना। चाहे रिश्ते हो
पूर्वार्थ
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
आदि विद्रोही-स्पार्टकस
आदि विद्रोही-स्पार्टकस
Shekhar Chandra Mitra
*गुरुदेव की है पूर्णिमा, गुरु-ज्ञान आज प्रधान है【 मुक्तक 】*
*गुरुदेव की है पूर्णिमा, गुरु-ज्ञान आज प्रधान है【 मुक्तक 】*
Ravi Prakash
जो बिकता है!
जो बिकता है!
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
"" *गणतंत्र दिवस* "" ( *26 जनवरी* )
सुनीलानंद महंत
ना अश्रु कोई गिर पाता है
ना अश्रु कोई गिर पाता है
Shweta Soni
जमाना खराब है
जमाना खराब है
Ritu Asooja
दोस्ती
दोस्ती
Neeraj Agarwal
जिसकी जिससे है छनती,
जिसकी जिससे है छनती,
महेश चन्द्र त्रिपाठी
"सवाल"
Dr. Kishan tandon kranti
#पैरोडी-
#पैरोडी-
*Author प्रणय प्रभात*
माया फील गुड की [ व्यंग्य ]
माया फील गुड की [ व्यंग्य ]
कवि रमेशराज
एक सपना
एक सपना
Punam Pande
Loading...