Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2024 · 1 min read

if you love me you will get love for sure.

if you love me you will get love for sure.
if you don’t love me
nothing will reduce or lost in my life.
I don’t care those who don’t have space any aspect of in my life .
I am share space of every aspect with those people who matter to me and have every aspect of space in my life.

rest other people it just people to me
i respect them being human but I can value them for any emotion or any space. .

127 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*धन्यवाद*
*धन्यवाद*
Shashi kala vyas
2
2
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
दोहे
दोहे
गुमनाम 'बाबा'
शयनकक्ष श्री हरि चले, कौन सँभाले भार ?।
शयनकक्ष श्री हरि चले, कौन सँभाले भार ?।
डॉ.सीमा अग्रवाल
रंग रंगीली होली आई
रंग रंगीली होली आई
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
"जीवन की परिभाषा"
Dr. Kishan tandon kranti
उसको फिर उसका
उसको फिर उसका
Dr fauzia Naseem shad
Mai deewana ho hi gya
Mai deewana ho hi gya
Swami Ganganiya
*खिले जब फूल दो भू पर, मधुर यह प्यार रचते हैं (मुक्तक)*
*खिले जब फूल दो भू पर, मधुर यह प्यार रचते हैं (मुक्तक)*
Ravi Prakash
स्वास्थ्य का महत्त्व
स्वास्थ्य का महत्त्व
Paras Nath Jha
चश्मा
चश्मा
लक्ष्मी सिंह
कभी सरल तो कभी सख़्त होते हैं ।
कभी सरल तो कभी सख़्त होते हैं ।
Neelam Sharma
मैं जी रहा हूँ जिंदगी, ऐ वतन तेरे लिए
मैं जी रहा हूँ जिंदगी, ऐ वतन तेरे लिए
gurudeenverma198
गुज़रा हुआ वक्त
गुज़रा हुआ वक्त
Surinder blackpen
६४बां बसंत
६४बां बसंत
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
3109.*पूर्णिका*
3109.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नहीं खुलती हैं उसकी खिड़कियाँ अब
नहीं खुलती हैं उसकी खिड़कियाँ अब
Shweta Soni
हमारे बुजुर्ग
हमारे बुजुर्ग
Indu Singh
"मेरी बेटी है नंदिनी"
Ekta chitrangini
ज़ुल्फो उड़ी तो काली घटा कह दिया हमने।
ज़ुल्फो उड़ी तो काली घटा कह दिया हमने।
Phool gufran
खेत का सांड
खेत का सांड
आनन्द मिश्र
युक्रेन और रूस ; संगीत
युक्रेन और रूस ; संगीत
कवि अनिल कुमार पँचोली
#2024
#2024
*प्रणय प्रभात*
संस्कार संस्कृति सभ्यता
संस्कार संस्कृति सभ्यता
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
चेहरे के पीछे चेहरा और उस चेहरे पर भी नकाब है।
चेहरे के पीछे चेहरा और उस चेहरे पर भी नकाब है।
सिद्धार्थ गोरखपुरी
व्यक्ति और विचार में यदि चुनना पड़े तो विचार चुनिए। पर यदि व
व्यक्ति और विचार में यदि चुनना पड़े तो विचार चुनिए। पर यदि व
Sanjay ' शून्य'
प्रेम पर बलिहारी
प्रेम पर बलिहारी
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
माई कहाँ बा
माई कहाँ बा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
सारे नेता कर रहे, आपस में हैं जंग
Dr Archana Gupta
Colours of Life!
Colours of Life!
R. H. SRIDEVI
Loading...