Jul 1, 2021 · 1 min read

Heart of A Father

HEART of A FATHER

So near, yet so far,
Tears apart HEART.
Eyes longs to see
Your delighted FACE
Ears longs to HEAR
Your lovely VOICE
Lost, Lonely and OLD
Parting so painful…
NEVER KNEW….

But am glad and happy
Could make your
Wish TRUE ,
Be HAPPY my CHILD
And have HARMONIOUS
HAPPY FAMILY LIFE.

Tears FLOW with Mingling
Sadness & Happiness
GOD BLESS YOU BOTH
BLISSFUL HAPPINESS FOR EVER.

3 Likes · 4 Comments · 307 Views
You may also like:
अख़बार
आकाश महेशपुरी
*अमृत-सरोवर में नौका-विहार*
Ravi Prakash
¡*¡ हम पंछी : कोई हमें बचा लो ¡*¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
"पिता"
Dr. Alpa H.
मज़हबी उन्मादी आग
Dr. Kishan Karigar
खींच तान
Saraswati Bajpai
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
नफरत की राजनीति...
मनोज कर्ण
पिता
रिपुदमन झा "पिनाकी"
बचपन
Anamika Singh
पिता
Rajiv Vishal
कन्या रूपी माँ अम्बे
Kanchan Khanna
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
पर्यावरण और मानव
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
वक्त अब कलुआ के घर का ठौर है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
शादी से पहले और शादी के बाद
gurudeenverma198
ना वो हवा ना वो पानी है अब
VINOD KUMAR CHAUHAN
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
तुम हो
Alok Saxena
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
खाली पैमाना
ओनिका सेतिया 'अनु '
मुक्तक- उनकी बदौलत ही...
आकाश महेशपुरी
बहुआयामी वात्सल्य दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हवलदार का करिया रंग (हास्य कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
।। मेरे तात ।।
Akash Yadav
फूलों की वर्षा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
तुझे वो कबूल क्यों नहीं हो मैं हूं
Krishan Singh
Loading...