Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Apr 2024 · 1 min read

FUSION

FUSION

Lying here naked
Writing poetry on your skin
Wondering where is it I end
And where do you begin

Fingers tracing love letters
Slowly down your spine
Goosebumps quivering with joy
As your world collides with mine

Breath dancing to the rhythm
Hearts drumming sacred beats
Heaven rejoicing in our sighs
Bodies melting in the heat

Without a beginning or an end
There is no you or me
Lost forever in this moment
Surrendering to love to set us free

43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैं तेरा श्याम बन जाऊं
मैं तेरा श्याम बन जाऊं
Devesh Bharadwaj
हम तुमको अपने दिल में यूँ रखते हैं
हम तुमको अपने दिल में यूँ रखते हैं
Shweta Soni
गुरुदेव आपका अभिनन्दन
गुरुदेव आपका अभिनन्दन
Pooja Singh
"अकेला"
Dr. Kishan tandon kranti
संघर्ष
संघर्ष
विजय कुमार अग्रवाल
पर्यावरण संरक्षण
पर्यावरण संरक्षण
Pratibha Pandey
सोच
सोच
Srishty Bansal
"बारिश की बूंदें" (Raindrops)
Sidhartha Mishra
प्लास्टिक बंदी
प्लास्टिक बंदी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
भेड़ चालों का रटन हुआ
भेड़ चालों का रटन हुआ
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
Phool gufran
सबक
सबक
manjula chauhan
अगर महोब्बत बेपनाह हो किसी से
अगर महोब्बत बेपनाह हो किसी से
शेखर सिंह
बुंदेली हास्य मुकरियां
बुंदेली हास्य मुकरियां
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
नील गगन
नील गगन
नवीन जोशी 'नवल'
उधार  ...
उधार ...
sushil sarna
कोंपलें फिर फूटेंगी
कोंपलें फिर फूटेंगी
Saraswati Bajpai
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
*ऐसा हमेशा कृष्ण जैसा, मित्र होना चाहिए (मुक्तक)*
*ऐसा हमेशा कृष्ण जैसा, मित्र होना चाहिए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
प्रतिध्वनि
प्रतिध्वनि
पूर्वार्थ
बॉलीवुड का क्रैज़ी कमबैक रहा है यह साल - आलेख
बॉलीवुड का क्रैज़ी कमबैक रहा है यह साल - आलेख
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
रिश्ता ऐसा हो,
रिश्ता ऐसा हो,
लक्ष्मी सिंह
ज़िंदगी का सफ़र
ज़िंदगी का सफ़र
Dr fauzia Naseem shad
■ संजीदगी : एक ख़ासियत
■ संजीदगी : एक ख़ासियत
*Author प्रणय प्रभात*
वचन सात फेरों का
वचन सात फेरों का
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
** मंजिलों की तरफ **
** मंजिलों की तरफ **
surenderpal vaidya
2870.*पूर्णिका*
2870.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आदमी की संवेदना कहीं खो गई
आदमी की संवेदना कहीं खो गई
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रामभक्त हनुमान
रामभक्त हनुमान
Seema gupta,Alwar
बेकारी का सवाल
बेकारी का सवाल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...