Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Apr 2023 · 1 min read

Ek ladki udas hoti hai

Ek ladki udas hoti hai
Jb wo apne hi ghar me gulam hoti hai.
Ek ladki udas hoti hai
Jb wo badi hokar
Pinjare se ajad hoti hai.
Ek ladki udas hoti hai,
Jb char diwaro se uski bat hoti hai.
Ek ladki udas hoti h
Jb maa bankar bhi wo bajh hoti hai.
Ek ladki udas hoti hai,
Jab uski Mohabbat uske khilaf hoti hai.
Ek ladki udas hoti hai,
Par mukhaute ke piche udasi chhipa kar rakhti hai. 😍

1 Like · 598 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शीर्षक – रेल्वे फाटक
शीर्षक – रेल्वे फाटक
Sonam Puneet Dubey
जिंदगी
जिंदगी
Neeraj Agarwal
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
Phool gufran
*माँ : 7 दोहे*
*माँ : 7 दोहे*
Ravi Prakash
31 जुलाई और दो सितारे (प्रेमचन्द, रफ़ी पर विशेष)
31 जुलाई और दो सितारे (प्रेमचन्द, रफ़ी पर विशेष)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अनुभूति
अनुभूति
Shweta Soni
क्यों गए थे ऐसे आतिशखाने में ,
क्यों गए थे ऐसे आतिशखाने में ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
"स्वप्न".........
Kailash singh
खुशनसीब
खुशनसीब
Naushaba Suriya
सफ़र ए जिंदगी
सफ़र ए जिंदगी
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
"ऐ मितवा"
Dr. Kishan tandon kranti
सिनेमा,मोबाइल और फैशन और बोल्ड हॉट तस्वीरों के प्रभाव से आज
सिनेमा,मोबाइल और फैशन और बोल्ड हॉट तस्वीरों के प्रभाव से आज
Rj Anand Prajapati
वफ़ा
वफ़ा
shabina. Naaz
पवित्र होली का पर्व अपने अद्भुत रंगों से
पवित्र होली का पर्व अपने अद्भुत रंगों से
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
मैदान-ए-जंग में तेज तलवार है मुसलमान,
मैदान-ए-जंग में तेज तलवार है मुसलमान,
Sahil Ahmad
* कभी दूरियों को *
* कभी दूरियों को *
surenderpal vaidya
माना दौलत है बलवान मगर, कीमत समय से ज्यादा नहीं होती
माना दौलत है बलवान मगर, कीमत समय से ज्यादा नहीं होती
पूर्वार्थ
3055.*पूर्णिका*
3055.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
किसी ज्योति ने मुझको यूं जीवन दिया
किसी ज्योति ने मुझको यूं जीवन दिया
gurudeenverma198
Why always me!
Why always me!
Bidyadhar Mantry
सबसे क़ीमती क्या है....
सबसे क़ीमती क्या है....
Vivek Mishra
आपके आसपास
आपके आसपास
Dr.Rashmi Mishra
सरपरस्त
सरपरस्त
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
माँ को अर्पित कुछ दोहे. . . .
माँ को अर्पित कुछ दोहे. . . .
sushil sarna
● रूम-पार्टनर
● रूम-पार्टनर
*Author प्रणय प्रभात*
छोड़ दिया किनारा
छोड़ दिया किनारा
Kshma Urmila
मुहब्बत में उड़ी थी जो ख़ाक की खुशबू,
मुहब्बत में उड़ी थी जो ख़ाक की खुशबू,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
" भींगता बस मैं रहा "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
हम कितने नोट/ करेंसी छाप सकते है
हम कितने नोट/ करेंसी छाप सकते है
शेखर सिंह
Loading...