Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2023 · 1 min read

My Expressions

Controversies and Conflicts are the result of clash of individual perceptions without reasonable flexibility of mutual acceptance in building a consensus
on a common cause.

Language: English
192 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
कुछ लोग होते है जो रिश्तों को महज़ इक औपचारिकता भर मानते है
कुछ लोग होते है जो रिश्तों को महज़ इक औपचारिकता भर मानते है
पूर्वार्थ
नारी को सदा राखिए संग
नारी को सदा राखिए संग
Ram Krishan Rastogi
रात का आलम किसने देखा
रात का आलम किसने देखा
कवि दीपक बवेजा
दूर किसी वादी में
दूर किसी वादी में
Shekhar Chandra Mitra
मैं बंजारा बन जाऊं
मैं बंजारा बन जाऊं
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
तेरे ख़त
तेरे ख़त
Surinder blackpen
నా గ్రామం..
నా గ్రామం..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
एक दिन आना ही होगा🌹🙏
एक दिन आना ही होगा🌹🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"होली है आई रे"
Rahul Singh
3283.*पूर्णिका*
3283.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जब साथ तुम्हारे रहता हूँ
जब साथ तुम्हारे रहता हूँ
Ashok deep
वैज्ञानिक युग और धर्म का बोलबाला/ आनंद प्रवीण
वैज्ञानिक युग और धर्म का बोलबाला/ आनंद प्रवीण
आनंद प्रवीण
किस किस्से का जिक्र
किस किस्से का जिक्र
Bodhisatva kastooriya
हया
हया
sushil sarna
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
स्वयं का न उपहास करो तुम , स्वाभिमान की राह वरो तुम
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बदली है मुफ़लिसी की तिज़ारत अभी यहाँ
बदली है मुफ़लिसी की तिज़ारत अभी यहाँ
Mahendra Narayan
कल पर कोई काम न टालें
कल पर कोई काम न टालें
महेश चन्द्र त्रिपाठी
मुरझाना तय है फूलों का, फिर भी खिले रहते हैं।
मुरझाना तय है फूलों का, फिर भी खिले रहते हैं।
Khem Kiran Saini
Ajj fir ek bar tum mera yuhi intazar karna,
Ajj fir ek bar tum mera yuhi intazar karna,
Sakshi Tripathi
जय श्रीराम हो-जय श्रीराम हो।
जय श्रीराम हो-जय श्रीराम हो।
manjula chauhan
"समय क़िस्मत कभी भगवान को तुम दोष मत देना
आर.एस. 'प्रीतम'
तुम
तुम
Sangeeta Beniwal
मन बैठ मेरे पास पल भर,शांति से विश्राम कर
मन बैठ मेरे पास पल भर,शांति से विश्राम कर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अवसान
अवसान
Shyam Sundar Subramanian
संस्मरण/*टैगोर शिशु निकेतन (टैगोर स्मार्ट प्ले एंड प्रीस्कूल)*
संस्मरण/*टैगोर शिशु निकेतन (टैगोर स्मार्ट प्ले एंड प्रीस्कूल)*
Ravi Prakash
कृषि पर्व वैशाखी....
कृषि पर्व वैशाखी....
डॉ.सीमा अग्रवाल
जो किसी से
जो किसी से
Dr fauzia Naseem shad
#तार्किक_तथ्य
#तार्किक_तथ्य
*Author प्रणय प्रभात*
खिलौने वो टूट गए, खेल सभी छूट गए,
खिलौने वो टूट गए, खेल सभी छूट गए,
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
कहां  गए  वे   खद्दर  धारी  आंसू   सदा   बहाने  वाले।
कहां गए वे खद्दर धारी आंसू सदा बहाने वाले।
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
Loading...