Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2023 · 1 min read

My Expressions

Controversies and Conflicts are the result of clash of individual perceptions without reasonable flexibility of mutual acceptance in building a consensus
on a common cause.

Language: English
61 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia! Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.

Books from Shyam Sundar Subramanian

You may also like:
एक फूल की हत्या
एक फूल की हत्या
Minal Aggarwal
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
नव्य उत्कर्ष
नव्य उत्कर्ष
Dr. Sunita Singh
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
शुभकामना संदेश
शुभकामना संदेश
Rajni kapoor
" यही सब होगा "
Aarti sirsat
शबे- फित्ना
शबे- फित्ना
मनोज कुमार
*मजदूर*
*मजदूर*
Shashi kala vyas
जीवन पथ
जीवन पथ
Kamal Deependra Singh
आने वाले साल से, कहे पुराना साल।
आने वाले साल से, कहे पुराना साल।
डॉ.सीमा अग्रवाल
■दोहा■
■दोहा■
*Author प्रणय प्रभात*
नियोजित शिक्षक का भविष्य
नियोजित शिक्षक का भविष्य
Sahil
बच्चों के मन भाता तोता (बाल कविता)
बच्चों के मन भाता तोता (बाल कविता)
Ravi Prakash
फहराये तिरंगा ।
फहराये तिरंगा ।
Buddha Prakash
प्रयोग
प्रयोग
Dr fauzia Naseem shad
जीवन का मुस्कान
जीवन का मुस्कान
Awadhesh Kumar Singh
परछाइयों के शहर में
परछाइयों के शहर में
Surinder blackpen
नित्य तो केवल आत्मा और ईश्वर है
नित्य तो केवल आत्मा और ईश्वर है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कवितायें सब कुछ कहती हैं
कवितायें सब कुछ कहती हैं
Satish Srijan
मेरी-तेरी पाती
मेरी-तेरी पाती
Ravi Ghayal
कोई आप सा
कोई आप सा
Chunnu Lal Gupta
"दरख़्त"
Dr. Kishan tandon kranti
जो हर पल याद आएगा
जो हर पल याद आएगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
किंकर्तव्यविमुढ़
किंकर्तव्यविमुढ़
पूनम झा 'प्रथमा'
फुलों कि  भी क्या  नसीब है साहब,
फुलों कि भी क्या नसीब है साहब,
Radha jha
वक्त बनाये, वक्त ही,  फोड़े है,  तकदीर
वक्त बनाये, वक्त ही, फोड़े है, तकदीर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सफर की महोब्बत
सफर की महोब्बत
Anil chobisa
💐प्रेम कौतुक-248💐
💐प्रेम कौतुक-248💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
शायर अपनी महबूबा से
शायर अपनी महबूबा से
Shekhar Chandra Mitra
मुक्तक
मुक्तक
Dr. Girish Chandra Agarwal
Loading...