Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 May 2023 · 1 min read

A Little Pep Talk

Never ever dampen your spirit.
Make sure you don’t lose the grit.

If folks around will let you down,
Nothing for you is there to frown.

The world worships the rising Sun.
Your endeavour must be to be one.

Why keep nagging for misfortune?
It means you’ve missed the fortune.

Make use of every second in hand,
Then upon you will Time play wand.

Once ahead, there will be no retreat.
The Universe will come to your feet.

… Md Ahtesham Ahmad
Andal, West Bengal

Language: English
108 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ahtesham Ahmad
View all
You may also like:
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
VINOD KUMAR CHAUHAN
महफ़िल में गीत नहीं गाता
महफ़िल में गीत नहीं गाता
Satish Srijan
न ठंड ठिठुरन, खेत न झबरा,
न ठंड ठिठुरन, खेत न झबरा,
Sanjay ' शून्य'
■ दुर्भाग्य
■ दुर्भाग्य
*Author प्रणय प्रभात*
शिव स्तुति
शिव स्तुति
Shivkumar Bilagrami
लोकतंत्र को मजबूत यदि बनाना है
लोकतंत्र को मजबूत यदि बनाना है
gurudeenverma198
कई लोगों के दिलों से बहुत दूर हुए हैं
कई लोगों के दिलों से बहुत दूर हुए हैं
कवि दीपक बवेजा
तेरी तसवीर को आज शाम,
तेरी तसवीर को आज शाम,
Nitin
प्रेम हैं अनन्त उनमें
प्रेम हैं अनन्त उनमें
The_dk_poetry
उमेश शुक्ल के हाइकु
उमेश शुक्ल के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
पत्थर दिखता है . (ग़ज़ल)
पत्थर दिखता है . (ग़ज़ल)
Mahendra Narayan
यादों में तेरे रहना ख्वाबों में खो जाना
यादों में तेरे रहना ख्वाबों में खो जाना
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
*स्वर्गीय कैलाश चंद्र अग्रवाल की काव्य साधना में वियोग की पीड़ा और कर्तव्य की अभि
*स्वर्गीय कैलाश चंद्र अग्रवाल की काव्य साधना में वियोग की पीड़ा और कर्तव्य की अभि
Ravi Prakash
"बन्दगी" हिंदी ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
झर-झर बरसे नयन हमारे ज्यूँ झर-झर बदरा बरसे रे
झर-झर बरसे नयन हमारे ज्यूँ झर-झर बदरा बरसे रे
हरवंश हृदय
आज बच्चों के हथेली पर किलकते फोन हैं।
आज बच्चों के हथेली पर किलकते फोन हैं।
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
✍️गुलिस्ताँ सरज़मी के बंदिश में है✍️
✍️गुलिस्ताँ सरज़मी के बंदिश में है✍️
'अशांत' शेखर
"लाइलाज दर्द"
DESH RAJ
खुद पर यकीन करके
खुद पर यकीन करके
Dr fauzia Naseem shad
मौजु
मौजु
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मै तो हूं मद मस्त मौला
मै तो हूं मद मस्त मौला
नेताम आर सी
आह्वान
आह्वान
Shyam Sundar Subramanian
अब युद्ध भी मेरा, विजय भी मेरी, निर्बलताओं को जयघोष सुनाना था।
अब युद्ध भी मेरा, विजय भी मेरी, निर्बलताओं को जयघोष सुनाना था।
Manisha Manjari
बेचैन कागज
बेचैन कागज
Dr Meenu Poonia
एक हकीक़त
एक हकीक़त
Ray's Gupta
पत्रकारो द्वारा आज ट्रेन हादसे के फायदे बताये जायेंगें ।
पत्रकारो द्वारा आज ट्रेन हादसे के फायदे बताये जायेंगें ।
Kailash singh
-- अंतिम यात्रा --
-- अंतिम यात्रा --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
💐💐संसारः निरन्तर: प्रवाहवान्💐💐
💐💐संसारः निरन्तर: प्रवाहवान्💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
पिता
Rajiv Vishal (Rohtasi)
तजुर्बा
तजुर्बा
Anamika Singh
Loading...