Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Aug 2023 · 1 min read

राष्ट्र निर्माण के नौ दोहे

राष्ट्र निर्माण के नौ दोहे
————————————————
1)
काशमीर में बह रही, भारत-भक्ति बयार
धारा सत्तर तीन सौ, हटी धन्य आभार
2)
मुफ्त सभी के स्वास्थ्य का, अब है सुंदर ध्यान
अभिनंदन शुभ योजना, भारत-आयुष्मान
3)
घर-घर शौचालय बने, सबके बने मकान
चला प्रगति की राह पर, अपना हिंदुस्तान
4)
कोरोना को जीत कर, बढ़ा आत्मविश्वास
मुफ्त लगी वैक्सीन है, राशन सबके पास
5)
नगर अयोध्या सज रहा, सजता काशीधाम
मंदिर पावन बन गया, धन्य-धन्य प्रभु राम
6)
बना नया संसद भवन, कृति है यह अनमोल
भव्य सुशोभित हो रहा, इसमें शुभ सैंगोल
7)
नल से जल जारी हुआ, अब गॉंवों की ओर
घर-घर पानी की हुई, ऐसे उजली भोर
8)
धुॅंआ न ऑंखों में लगे, यह कर दिया कमाल
गैस कनेक्शन उज्ज्वला , अद्भुत एक मिसाल
9)
दिन दूनी सड़कें हुईं, मेट्रो की रफ्तार
वंदे भारत चल रहीं, वायुयान आभार
➖➖➖➖➖➖➖➖
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

179 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
दर्द -दर्द चिल्लाने से सूकून नहीं मिलेगा तुझे,
दर्द -दर्द चिल्लाने से सूकून नहीं मिलेगा तुझे,
Pramila sultan
#हिंदी_ग़ज़ल
#हिंदी_ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
अब किसपे श्रृंगार करूँ
अब किसपे श्रृंगार करूँ
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
धर्म की खिचड़ी
धर्म की खिचड़ी
विनोद सिल्ला
*
*"मां चंद्रघंटा"*
Shashi kala vyas
/// जीवन ///
/// जीवन ///
जगदीश लववंशी
नया फरमान
नया फरमान
Shekhar Chandra Mitra
*याद है  हमको हमारा  जमाना*
*याद है हमको हमारा जमाना*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
बच्चा सिर्फ बच्चा होता है
बच्चा सिर्फ बच्चा होता है
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अंधे रेवड़ी बांटने में लगे
अंधे रेवड़ी बांटने में लगे
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बड़ा भाई बोल रहा हूं।
बड़ा भाई बोल रहा हूं।
SATPAL CHAUHAN
सौ रोग भले देह के, हों लाख कष्टपूर्ण
सौ रोग भले देह के, हों लाख कष्टपूर्ण
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
यहाँ सब काम हो जाते सही तदबीर जानो तो
यहाँ सब काम हो जाते सही तदबीर जानो तो
आर.एस. 'प्रीतम'
Rang hi khuch aisa hai hmare ishk ka , ki unhe fika lgta hai
Rang hi khuch aisa hai hmare ishk ka , ki unhe fika lgta hai
Sakshi Tripathi
एक देश एक कानून
एक देश एक कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
ढलता सूरज गहराती लालिमा देती यही संदेश
ढलता सूरज गहराती लालिमा देती यही संदेश
Neerja Sharma
"रंग वही लगाओ रे"
Dr. Kishan tandon kranti
प्रेम और पुष्प, होता है सो होता है, जिस तरह पुष्प को जहां भी
प्रेम और पुष्प, होता है सो होता है, जिस तरह पुष्प को जहां भी
Sanjay ' शून्य'
मुझे मेरी फितरत को बदलना है
मुझे मेरी फितरत को बदलना है
Basant Bhagawan Roy
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
पूर्वार्थ
बाबा साहेब अम्बेडकर / मुसाफ़िर बैठा
बाबा साहेब अम्बेडकर / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
विश्व भर में अम्बेडकर जयंती मनाई गयी।
विश्व भर में अम्बेडकर जयंती मनाई गयी।
शेखर सिंह
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
भूल जा वह जो कल किया
भूल जा वह जो कल किया
gurudeenverma198
वक्त यदि गुजर जाए तो 🧭
वक्त यदि गुजर जाए तो 🧭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
*गर्मी देती नहीं दिखाई【बाल कविता-गीतिका】*
Ravi Prakash
2410.पूर्णिका
2410.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
विनती
विनती
Kanchan Khanna
हिंदी
हिंदी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बदलते चेहरे हैं
बदलते चेहरे हैं
Dr fauzia Naseem shad
Loading...