Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2024 · 1 min read

5) “पूनम का चाँद”

निराला होता सौंदर्य पूनम की रात का,
गोलाकार दूधिया दीदार होता, चाँद के आकार का।
बिखेरता यह चितचोर शीतलता एवम् मधुर रस को,
प्रतीत होता लुभावना चाँद का रूप, पूनम की रात को।

बिछ जाती है दूधिया चादर आसमाँ के आँगन में,
निर्मल वं स्वच्छ चमकता तारों के प्रांगण में।
नौकाएँ तैर रही शीतल जल के बहाव में,
नदियाँ/झरनें उछल रहे,चमकीली चट्टानों के टकराव में।

आश्चर्यजनक एवम् लुभावना अनुभव है,
उज्वल,शीतल सौंदर्य का वर्णन है।
कलम निहार रही पूनम के चाँद को,
लिखती जा रही रूप की रात को।
चकोर बनी घूम रही, पन्नों की क़तार में,
चलती जा रही सौंदर्य की रात के संसार में।।

“अनुकूल हो रहा पाचन, खीर चख रही भोर,
देखो उत्साह से पूनम का चाँद और चकोर”

✍🏻स्व-रचित/मौलिक
सपना अरोरा।

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 51 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Sapna Arora
View all
You may also like:
भौतिक युग की सम्पदा,
भौतिक युग की सम्पदा,
sushil sarna
सच बोलने वाले के पास कोई मित्र नहीं होता।
सच बोलने वाले के पास कोई मित्र नहीं होता।
Dr MusafiR BaithA
तुम्हें अहसास है कितना तुम्हे दिल चाहता है पर।
तुम्हें अहसास है कितना तुम्हे दिल चाहता है पर।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
कर लो कभी
कर लो कभी
Sunil Maheshwari
–स्वार्थी रिश्ते —
–स्वार्थी रिश्ते —
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
“सभी के काम तुम आओ”
“सभी के काम तुम आओ”
DrLakshman Jha Parimal
*मिलती है नवनिधि कभी, मिलती रोटी-दाल (कुंडलिया)*
*मिलती है नवनिधि कभी, मिलती रोटी-दाल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
प्रेम-प्रेम रटते सभी,
प्रेम-प्रेम रटते सभी,
Arvind trivedi
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मुनाफे में भी घाटा क्यों करें हम।
मुनाफे में भी घाटा क्यों करें हम।
सत्य कुमार प्रेमी
क्या रावण अभी भी जिन्दा है
क्या रावण अभी भी जिन्दा है
Paras Nath Jha
क्रिसमस से नये साल तक धूम
क्रिसमस से नये साल तक धूम
Neeraj Agarwal
अंतहीन प्रश्न
अंतहीन प्रश्न
Shyam Sundar Subramanian
हर खुशी
हर खुशी
Dr fauzia Naseem shad
हर एक अनुभव की तर्ज पर कोई उतरे तो....
हर एक अनुभव की तर्ज पर कोई उतरे तो....
कवि दीपक बवेजा
19)”माघी त्योहार”
19)”माघी त्योहार”
Sapna Arora
"सत्य"
Dr. Kishan tandon kranti
#प्रणय_गीत-
#प्रणय_गीत-
*प्रणय प्रभात*
शर्ट के टूटे बटन से लेकर
शर्ट के टूटे बटन से लेकर
Ranjeet kumar patre
2686.*पूर्णिका*
2686.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
परिवार का सत्यानाश
परिवार का सत्यानाश
पूर्वार्थ
कौन कहता है वो ठुकरा के गया
कौन कहता है वो ठुकरा के गया
Manoj Mahato
ज़िन्दगी
ज़िन्दगी
डॉक्टर रागिनी
धुंधली यादो के वो सारे दर्द को
धुंधली यादो के वो सारे दर्द को
'अशांत' शेखर
Tuning fork's vibration is a perfect monotone right?
Tuning fork's vibration is a perfect monotone right?
Sukoon
दिखता अगर फ़लक पे तो हम सोचते भी कुछ
दिखता अगर फ़लक पे तो हम सोचते भी कुछ
Shweta Soni
चश्मा,,,❤️❤️
चश्मा,,,❤️❤️
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
তুমি এলে না
তুমি এলে না
goutam shaw
भोर समय में
भोर समय में
surenderpal vaidya
तेरी यादों ने इस ओर आना छोड़ दिया है
तेरी यादों ने इस ओर आना छोड़ दिया है
Bhupendra Rawat
Loading...