Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 May 2024 · 1 min read

3383⚘ *पूर्णिका* ⚘

3383⚘ पूर्णिका
🌹 तुम भरोसा कभी तोड़ना नहीं 🌹
212 212 212 12
तुम भरोसा कभी तोड़ना नहीं ।
साथ अपना कभी छोड़ना नहीं ।।
ये रिश्तें नेक बंधन अटूट है ।
मुंह अपना कभी मोड़ना नहीं ।।
वक्त यहाँ बदलता देख लो जरा।
साथ रह सर कभी फोड़ना नहीं ।।
सोच से ही सजे जिंदगी यहाँ ।
दिल किसी से कभी जोड़ना नहीं।।
बेरहम आज खेदू न रहनुमा।
देख पीछे कभी दौड़ना नहीं।।
……..✍ डॉ .खेदू भारती “सत्येश “
03-05-2024शुक्रवार

48 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
इंसानियत का कत्ल
इंसानियत का कत्ल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गिराता और को हँसकर गिरेगा वो यहाँ रोकर
गिराता और को हँसकर गिरेगा वो यहाँ रोकर
आर.एस. 'प्रीतम'
"जियो जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
जब तक हो तन में प्राण
जब तक हो तन में प्राण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
3005.*पूर्णिका*
3005.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
!!! नानी जी !!!
!!! नानी जी !!!
जगदीश लववंशी
सफलता यूं ही नहीं मिल जाती है।
सफलता यूं ही नहीं मिल जाती है।
नेताम आर सी
बंटते हिन्दू बंटता देश
बंटते हिन्दू बंटता देश
विजय कुमार अग्रवाल
यही सोचकर आँखें मूँद लेता हूँ कि.. कोई थी अपनी जों मुझे अपना
यही सोचकर आँखें मूँद लेता हूँ कि.. कोई थी अपनी जों मुझे अपना
Ravi Betulwala
8. टूटा आईना
8. टूटा आईना
Rajeev Dutta
मेरे पास तुम्हारी कोई निशानी-ए-तस्वीर नहीं है
मेरे पास तुम्हारी कोई निशानी-ए-तस्वीर नहीं है
शिव प्रताप लोधी
बहुमत
बहुमत
मनोज कर्ण
नवाब इफ्तिखार अली खान पटौदी
नवाब इफ्तिखार अली खान पटौदी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*मेरा वोट मेरा अधिकार (दोहे)*
*मेरा वोट मेरा अधिकार (दोहे)*
Rituraj shivem verma
कितने अच्छे भाव है ना, करूणा, दया, समर्पण और साथ देना। पर जब
कितने अच्छे भाव है ना, करूणा, दया, समर्पण और साथ देना। पर जब
पूर्वार्थ
शैलजा छंद
शैलजा छंद
Subhash Singhai
क्या कहुं ऐ दोस्त, तुम प्रोब्लम में हो, या तुम्हारी जिंदगी
क्या कहुं ऐ दोस्त, तुम प्रोब्लम में हो, या तुम्हारी जिंदगी
लक्की सिंह चौहान
तुम जिंदा हो इसका प्रमाड़ दर्द है l
तुम जिंदा हो इसका प्रमाड़ दर्द है l
Ranjeet kumar patre
दो ही हमसफर मिले जिन्दगी में..
दो ही हमसफर मिले जिन्दगी में..
Vishal babu (vishu)
विषधर
विषधर
आनन्द मिश्र
दिल शीशे सा
दिल शीशे सा
Neeraj Agarwal
अपने दिल से
अपने दिल से
Dr fauzia Naseem shad
कौआ और कोयल ( दोस्ती )
कौआ और कोयल ( दोस्ती )
VINOD CHAUHAN
फितरत सियासत की
फितरत सियासत की
लक्ष्मी सिंह
उसकी सूरत में उलझे हैं नैना मेरे।
उसकी सूरत में उलझे हैं नैना मेरे।
Madhuri mahakash
ईश ......
ईश ......
sushil sarna
तुझसे मिलने के बाद ❤️
तुझसे मिलने के बाद ❤️
Skanda Joshi
😊आज का दोहा😊
😊आज का दोहा😊
*प्रणय प्रभात*
अंधा वो नहीं होता है
अंधा वो नहीं होता है
ओंकार मिश्र
अजनबी !!!
अजनबी !!!
Shaily
Loading...