Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Feb 2024 · 1 min read

3008.*पूर्णिका*

3008.*पूर्णिका*
🌷 आया बसंत का मौसम है
2212 122 22
आया बसंत का मौसम है ।
भाया बसंत का मौसम है ।।
देखो सजन यहाँ मादकता ।
छाया बसंत का मौसम है ।।
भौरें जहाँ कहीं गाते अब।
माया बसंत का मौसम है ।।
सब प्यार में हुए दीवाना ।
पाया बसंत का मौसम है ।।
खुद पे यकीं महकते खेदू।
लाया बसंत का मौसम है ।।
………✍ डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
14-02-2024बुधवार

98 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आज पुराने ख़त का, संदूक में द़ीद़ार होता है,
आज पुराने ख़त का, संदूक में द़ीद़ार होता है,
SPK Sachin Lodhi
बाल चुभे तो पत्नी बरसेगी बन गोला/आकर्षण से मार कांच का दिल है भामा
बाल चुभे तो पत्नी बरसेगी बन गोला/आकर्षण से मार कांच का दिल है भामा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कैसी ये पीर है
कैसी ये पीर है
Dr fauzia Naseem shad
*वाह-वाह क्या बात ! (कुंडलिया)*
*वाह-वाह क्या बात ! (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
2122 1212 22/112
2122 1212 22/112
SZUBAIR KHAN KHAN
तुम्हें अकेले चलना होगा
तुम्हें अकेले चलना होगा
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
प्रदाता
प्रदाता
Dinesh Kumar Gangwar
लोग तो मुझे अच्छे दिनों का राजा कहते हैं,
लोग तो मुझे अच्छे दिनों का राजा कहते हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
नारी शक्ति
नारी शक्ति
भरत कुमार सोलंकी
एक मुस्कान के साथ फूल ले आते हो तुम,
एक मुस्कान के साथ फूल ले आते हो तुम,
Kanchan Alok Malu
— नारी न होती तो —
— नारी न होती तो —
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
जीवन वो कुरुक्षेत्र है,
जीवन वो कुरुक्षेत्र है,
sushil sarna
दोस्ती
दोस्ती
Shashi Dhar Kumar
रामचरितमानस
रामचरितमानस
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
गंगा काशी सब हैं घरही में.
गंगा काशी सब हैं घरही में.
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
दौरे-हजीर चंद पर कलमात🌹🌹🌹🌹🌹🌹
दौरे-हजीर चंद पर कलमात🌹🌹🌹🌹🌹🌹
shabina. Naaz
कैसा दौर है ये क्यूं इतना शोर है ये
कैसा दौर है ये क्यूं इतना शोर है ये
Monika Verma
.......*तु खुदकी खोज में निकल* ......
.......*तु खुदकी खोज में निकल* ......
Naushaba Suriya
गीत..
गीत..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
काश.! मैं वृक्ष होता
काश.! मैं वृक्ष होता
Dr. Mulla Adam Ali
#सच_स्वीकार_करें.....
#सच_स्वीकार_करें.....
*प्रणय प्रभात*
तुम्हें लिखना आसान है
तुम्हें लिखना आसान है
Manoj Mahato
हरि लापता है, ख़ुदा लापता है
हरि लापता है, ख़ुदा लापता है
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
" एकता "
DrLakshman Jha Parimal
शब्द लौटकर आते हैं,,,,
शब्द लौटकर आते हैं,,,,
Shweta Soni
दूर कहीं जब मीत पुकारे
दूर कहीं जब मीत पुकारे
Mahesh Tiwari 'Ayan'
*ग़ज़ल*
*ग़ज़ल*
आर.एस. 'प्रीतम'
शांति युद्ध
शांति युद्ध
Dr.Priya Soni Khare
नौ फेरे नौ वचन
नौ फेरे नौ वचन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
नृत्य किसी भी गीत और संस्कृति के बोल पर आधारित भावना से ओतप्
नृत्य किसी भी गीत और संस्कृति के बोल पर आधारित भावना से ओतप्
Rj Anand Prajapati
Loading...