Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Dec 2023 · 1 min read

2876.*पूर्णिका*

2876.*पूर्णिका*
🌷 कुछ ना कुछ जरूरत होती है🌷
22 212 22 22
कुछ ना कुछ जरूरत होती है ।
मंजिल खूबसूरत होती है ।।
यूं ही प्यार की कलियां खिलती ।
दिल में नेक चाहत होती है ।।
रोज तराशते हम पत्थर यहाँ ।
सुंदर देख मूरत होती है ।।
संघर्ष जिंदगी का नाम जहाँ ।
हरपल भान नुसरत होती है ।।
होते मतलबी इंसान बड़े ।
दामन थाम फितरत होती है ।।
अपना फर्ज निभाते है खेदू।
दुनिया जान इशरत होती है ।।
…….✍ डॉ .खेदू भारती”सत्येश”
31-12-2023रविवार

104 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चाय पार्टी
चाय पार्टी
Mukesh Kumar Sonkar
शिवा कहे,
शिवा कहे, "शिव" की वाणी, जन, दुनिया थर्राए।
SPK Sachin Lodhi
प्रदूषन
प्रदूषन
Bodhisatva kastooriya
गुरु असीम ज्ञानों का दाता 🌷🙏
गुरु असीम ज्ञानों का दाता 🌷🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
स्याही की
स्याही की
Atul "Krishn"
भोर की खामोशियां कुछ कह रही है।
भोर की खामोशियां कुछ कह रही है।
surenderpal vaidya
विचार पसंद आए _ पढ़ लिया कीजिए ।
विचार पसंद आए _ पढ़ लिया कीजिए ।
Rajesh vyas
चाहता है जो
चाहता है जो
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
राष्ट्र भाषा राज भाषा
राष्ट्र भाषा राज भाषा
Dinesh Gupta
पलटे नहीं थे हमने
पलटे नहीं थे हमने
Dr fauzia Naseem shad
हर बात को समझने में कुछ वक्त तो लगता ही है
हर बात को समझने में कुछ वक्त तो लगता ही है
पूर्वार्थ
जो रास्ते हमें चलना सीखाते हैं.....
जो रास्ते हमें चलना सीखाते हैं.....
कवि दीपक बवेजा
👌
👌
*Author प्रणय प्रभात*
अच्छा लगने लगा है उसे
अच्छा लगने लगा है उसे
Vijay Nayak
सैलाब .....
सैलाब .....
sushil sarna
प्यार के सिलसिले
प्यार के सिलसिले
Basant Bhagawan Roy
पग मेरे नित चलते जाते।
पग मेरे नित चलते जाते।
Anil Mishra Prahari
चैन क्यों हो क़रार आने तक
चैन क्यों हो क़रार आने तक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"Radiance of Purity"
Manisha Manjari
मजदूर दिवस पर विशेष
मजदूर दिवस पर विशेष
Harminder Kaur
देश हमारा
देश हमारा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ख़ुद पे गुजरी तो मेरे नसीहतगार,
ख़ुद पे गुजरी तो मेरे नसीहतगार,
ओसमणी साहू 'ओश'
3138.*पूर्णिका*
3138.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*
*"शिव आराधना"*
Shashi kala vyas
मुझको शिकायत है
मुझको शिकायत है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"कलम का संसार"
Dr. Kishan tandon kranti
जिंदगी
जिंदगी
Neeraj Agarwal
*** एक दीप हर रोज रोज जले....!!! ***
*** एक दीप हर रोज रोज जले....!!! ***
VEDANTA PATEL
!..............!
!..............!
शेखर सिंह
एक कहानी है, जो अधूरी है
एक कहानी है, जो अधूरी है
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
Loading...