Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 May 2023 · 1 min read

2320.पूर्णिका

2320.पूर्णिका
🌹बादल बनके बरस जाते🌹
22 22 2122
बादल बनके बरस जाते।
बगियां अपनी हरष जाते।।
लाख दुहाई लोग देते।
क्योंकर कोई तरस जाते।।
अरमानों की आज दुनिया।
देखो कितना सरस जाते ।।
नेक दिलों की है कहानी ।
अनचाही चाह बस जाते।।
जालिम खेदू ये जमाना।
इंसां खुद काट नस जाते ।।
…………✍डॉ .खेदू भारती”सत्येश ”
25-5-2023गुरूवार

324 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हुआ अच्छा कि मजनूँ
हुआ अच्छा कि मजनूँ
Satish Srijan
Two Different Genders, Two Different Bodies And A Single Soul
Two Different Genders, Two Different Bodies And A Single Soul
Manisha Manjari
प्रेमी चील सरीखे होते हैं ;
प्रेमी चील सरीखे होते हैं ;
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
"बँटबारे का दंश"
Dr. Kishan tandon kranti
लिख / MUSAFIR BAITHA
लिख / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
New light emerges from the depths of experiences, - Desert Fellow Rakesh Yadav
New light emerges from the depths of experiences, - Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
मुश्किलें जरूर हैं, मगर ठहरा नहीं हूँ मैं ।
मुश्किलें जरूर हैं, मगर ठहरा नहीं हूँ मैं ।
पूर्वार्थ
जाते हो.....❤️
जाते हो.....❤️
Srishty Bansal
23/101.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/101.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लेखक
लेखक
Shweta Soni
ढ़ूंढ़ रहे जग में कमी
ढ़ूंढ़ रहे जग में कमी
लक्ष्मी सिंह
धोखा वफा की खाई है हमने
धोखा वफा की खाई है हमने
Ranjeet kumar patre
गर्मी आई
गर्मी आई
Manu Vashistha
मैं
मैं
Seema gupta,Alwar
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
जंगल ये जंगल
जंगल ये जंगल
Dr. Mulla Adam Ali
जय मां ँँशारदे 🙏
जय मां ँँशारदे 🙏
Neelam Sharma
चार दिन की ज़िंदगी
चार दिन की ज़िंदगी
कार्तिक नितिन शर्मा
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
VEDANTA PATEL
💐Prodigy Love-40💐
💐Prodigy Love-40💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भीख
भीख
Mukesh Kumar Sonkar
* ऋतुराज *
* ऋतुराज *
surenderpal vaidya
(14) जान बेवजह निकली / जान बेवफा निकली
(14) जान बेवजह निकली / जान बेवफा निकली
Kishore Nigam
प्यार और विश्वास
प्यार और विश्वास
Harminder Kaur
#मुक्तक-
#मुक्तक-
*Author प्रणय प्रभात*
राम नाम
राम नाम
पंकज प्रियम
* बच कर रहना पुष्प-हार, अभिनंदन वाले ख्यालों से 【हिंदी गजल/ग
* बच कर रहना पुष्प-हार, अभिनंदन वाले ख्यालों से 【हिंदी गजल/ग
Ravi Prakash
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
जीवन दुखों से भरा है जीवन के सभी पक्षों में दुख के बीज सम्मि
Ms.Ankit Halke jha
16- उठो हिन्द के वीर जवानों
16- उठो हिन्द के वीर जवानों
Ajay Kumar Vimal
जख्म भरता है इसी बहाने से
जख्म भरता है इसी बहाने से
Anil Mishra Prahari
Loading...