Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Apr 2023 · 1 min read

2263.

2263.
🌹चुपके चुपके आना तेरा🌹
22 22 22 22
चुपके चुपके आना तेरा।
भाता मन को आना तेरा।।
यूं प्यारा सा अहसास यहाँ ।
खुशियाँ देता आना तेरा।।
महफिल में महफिल सजती है ।
शान हमारी आना तेरा।।
कहते रोज कहाँ हम तुझको ।
आँखें देखें आना तेरा ।।
जान कहे बस जानम खेदू ।
दुनिया मेरी आना तेरा ।।
……….✍डॉ .खेदू भारती “सत्येश”
12-4-2023बुधवार

386 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
साँसें कागज की नाँव पर,
साँसें कागज की नाँव पर,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
महाभारत एक अलग पहलू
महाभारत एक अलग पहलू
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
जिस नारी ने जन्म दिया
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD CHAUHAN
जब एक ज़िंदगी
जब एक ज़िंदगी
Dr fauzia Naseem shad
फिर  किसे  के  हिज्र  में खुदकुशी कर ले ।
फिर किसे के हिज्र में खुदकुशी कर ले ।
himanshu mittra
पिता
पिता
विजय कुमार अग्रवाल
शुभम दुष्यंत राणा shubham dushyant rana ने हितग्राही कार्ड अभियान के तहत शासन की योजनाओं को लेकर जनता से ली राय
शुभम दुष्यंत राणा shubham dushyant rana ने हितग्राही कार्ड अभियान के तहत शासन की योजनाओं को लेकर जनता से ली राय
Bramhastra sahityapedia
माँ का घर
माँ का घर
Pratibha Pandey
*कलम उनकी भी गाथा लिख*
*कलम उनकी भी गाथा लिख*
Mukta Rashmi
हौसला
हौसला
डॉ. शिव लहरी
Happy Mother's Day ❤️
Happy Mother's Day ❤️
NiYa
व्यावहारिक सत्य
व्यावहारिक सत्य
Shyam Sundar Subramanian
धन बल पर्याय
धन बल पर्याय
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
छलनी- छलनी जिसका सीना
छलनी- छलनी जिसका सीना
लक्ष्मी सिंह
अश्रु से भरी आंँखें
अश्रु से भरी आंँखें
डॉ माधवी मिश्रा 'शुचि'
सापटी
सापटी
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
2609.पूर्णिका
2609.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बंधे रहे संस्कारों से।
बंधे रहे संस्कारों से।
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
उस चाँद की तलाश में
उस चाँद की तलाश में
Diwakar Mahto
■ चुनावी साल, संक्रमण काल।
■ चुनावी साल, संक्रमण काल।
*Author प्रणय प्रभात*
खेतों में हरियाली बसती
खेतों में हरियाली बसती
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जीत से बातचीत
जीत से बातचीत
Sandeep Pande
कुत्ते / MUSAFIR BAITHA
कुत्ते / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
इस उजले तन को कितने घिस रगड़ के धोते हैं लोग ।
इस उजले तन को कितने घिस रगड़ के धोते हैं लोग ।
Lakhan Yadav
मेरी तो गलतियां मशहूर है इस जमाने में
मेरी तो गलतियां मशहूर है इस जमाने में
Ranjeet kumar patre
मुख्तशर सी जिन्दगी हैं,,,
मुख्तशर सी जिन्दगी हैं,,,
Taj Mohammad
सागर
सागर
नूरफातिमा खातून नूरी
आपका आकाश ही आपका हौसला है
आपका आकाश ही आपका हौसला है
Neeraj Agarwal
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
Ram Krishan Rastogi
Loading...