Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

सास बहू

सास बहू
आजकल देखने में आता है कि सास भी कभी बहु थी ।
पर मेरा यह मानना है कि जब सास ,बेटी नही थी यह आभास क्यों नही होता ,
और जब सास थी तब वहः बहु पर रोब जमाना कैसा बर्ताव है या जब बहु थी तब वहः सास पर हक चलाना भी कैसा बर्ताव है ।
य्यानी यह है अपने द्वारा किये गए बर्ताव का गूसा बहु या सास पर क्यों ।
अगर देखा जाए तो इसमे टी वी के सीरियल का भी रोल अदा होता है ।
मेने एक सीरियल देखा साथ निभाना साथिया में एक सास जो की मोदी परिवार से जुडी है गोपी बहु की कहानी है जिसमे वो अनपढ़ थी बाद में सास ने सकारात्मक राह पर ले जाकर पुरे घर को अपने बल पर और काना जी को साक्षी मानकर जिम्मदारी से संभाला ।

पर सीरियल में जेट जेठानी की लड़ाई भी सास का चकमा और बहू का उदास होना भी यह जताता है कि नारी की नारी दुश्मन का जहर भी परिवार की खुशियां ले डूबता है ।

अगर यह कहा जाए की सास कभी बेटी थी और बहू कभी बहन थी तो कहने में कोई अतिश्योक्ति नही होगी ।

✍✍प्रवीण शर्मा ताल

244 Views
You may also like:
"पिता की क्षमता"
पंकज कुमार कर्ण
मौन में गूंजते शब्द
Manisha Manjari
आज मस्ती से जीने दो
Anamika Singh
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
पिता
Dr.Priya Soni Khare
कण-कण तेरे रूप
श्री रमण 'श्रीपद्'
मेरे पिता
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
✍️सूरज मुट्ठी में जखड़कर देखो✍️
'अशांत' शेखर
रुक-रुक बरस रहे मतवारे / (सावन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हिय बसाले सिया राम
शेख़ जाफ़र खान
'बाबूजी' एक पिता
पंकज कुमार कर्ण
खुद से बच कर
Dr fauzia Naseem shad
उनकी यादें
Ram Krishan Rastogi
ढाई आखर प्रेम का
श्री रमण 'श्रीपद्'
ब्रेकिंग न्यूज़
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता हिमालय है
जगदीश शर्मा सहज
धरती की अंगड़ाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
यकीन कैसा है
Dr fauzia Naseem shad
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️बचपन का ज़माना ✍️
Vaishnavi Gupta
बिटिया होती है कोहिनूर
Anamika Singh
सही गलत का
Dr fauzia Naseem shad
मैं कुछ कहना चाहता हूं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कूड़े के ढेर में भी
Dr fauzia Naseem shad
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
हमारी सभ्यता
Anamika Singh
बेटियों की जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
"मेरे पिता"
vikkychandel90 विक्की चंदेल (साहिब)
Loading...