तोहर गाँव कहाँ बा (कविता)भिखारी ठाकुर

गाँव गाँव शहर शहर
तू घुर रहल बाड़ऽ
माटी के माथ पर
लेप चानर जइसे
तू चूम रहल बाड़ऽ
सुन सुन ए बटोही
तोहार गाँव कहाँ बा

फाटल छिटल
दूगो कुरता धोती
आख प चशमा
जन कल्याण के खातीर
झोला झंडा लेके
ठङा मे ठिठुर रहल बाड़ऽ
सुन सुन ए बटोही
तोहार गाँव कहाँ बा

जंगल-झार , वीरन मे
कुसुम फुल के देखिके
गीत गजब के कढ़इलऽ
संस्कृति विस्तार के खातीर
जेठ बैशाख के घाम मे कुद रहल बाड़ऽ
सुन सुन ए बटोही
तोहार गाँव कहाँ बा

मूल रचनाकार- (मौलिक एवं स्वरचित)
© श्रीहर्ष आचार्य(मैथिली)
अनुवाद- सोनू कुमार यादव ( सारण)
भोजपुरी

10 Likes · 7 Comments · 161 Views
You may also like:
फरिश्ता से
Dr.sima
ग्रीष्म ऋतु भाग २
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कायनात के जर्रे जर्रे में।
Taj Mohammad
मारुति वंदन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
पितु संग बचपन
मनोज कर्ण
दिल टूट करके।
Taj Mohammad
पिता
Dr. Kishan Karigar
* प्रेमी की वेदना *
Dr. Alpa H.
जानें किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
** शरारत **
Dr. Alpa H.
इलाहाबाद आयें हैं , इलाहाबाद आये हैं.....अज़ल
लवकुश यादव "अज़ल"
श्रीराम गाथा
मनोज कर्ण
भारत को क्या हो चला है
Mr Ismail Khan
सद् गणतंत्र सु दिवस मनाएं
Pt. Brajesh Kumar Nayak
इशारो ही इशारो से...😊👌
N.ksahu0007@writer
【8】 *"* आई देखो आई रेल *"*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
वैश्या का दर्द भरा दास्तान
Anamika Singh
एक मुर्गी की दर्द भरी दास्तां
ओनिका सेतिया 'अनु '
दूजा नहीं रहता
अरशद रसूल /Arshad Rasool
पिता, इन्टरनेट युग में
Shaily
पिता की नियति
Prabhudayal Raniwal
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
आज कुछ ऐसा लिखो
Saraswati Bajpai
नियत मे पर्दा
Vikas Sharma'Shivaaya'
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
उम्मीद की रोशनी में।
Taj Mohammad
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
फूलों की वर्षा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बहुआयामी वात्सल्य दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...