Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings

छोटन-मोटन बात करत हो

छोटन-मोटन बात करत हो
हमरे संग ही घात करत हो

ई जिनगी बा, खेला नाही
काहे शय-ओ-मात करत हो

दिन बोला जब दिन होवे
काहे दिन मा रात करत हो

मानबता भुलिके बबुआ तुम
बेकार जात-पात करत हो

काहे सु:खवा के आंगन मा
दु:ख से दो-दो हात करत हो

•••

1 Like · 136 Views
You may also like:
भगवान जगन्नाथ की आरती (०१
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सिद्धार्थ से वह 'बुद्ध' बने...
Buddha Prakash
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️आशिकों के मेले है ✍️
Vaishnavi Gupta
आंसूओं की नमी
Dr fauzia Naseem shad
न जाने क्यों
Dr fauzia Naseem shad
बुद्ध भगवान की शिक्षाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Kavita Nahi hun mai
Shyam Pandey
गीत
शेख़ जाफ़र खान
“श्री चरणों में तेरे नमन, हे पिता स्वीकार हो”
Kumar Akhilesh
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण 'श्रीपद्'
मिसाले हुस्न का
Dr fauzia Naseem shad
ठनक रहे माथे गर्मीले / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
यादें
kausikigupta315
समसामयिक बुंदेली ग़ज़ल /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
संघर्ष
Sushil chauhan
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
देव शयनी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ (खड़ी हूँ मैं बुलंदी पर मगर आधार तुम हो...
Dr Archana Gupta
दोहे एकादश ...
डॉ.सीमा अग्रवाल
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
दहेज़
आकाश महेशपुरी
"शौर्यम..दक्षम..युध्धेय, बलिदान परम धर्मा" अर्थात- बहादुरी वह है जो आपको...
Lohit Tamta
जिंदगी
Abhishek Pandey Abhi
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
टूटा हुआ दिल
Anamika Singh
नर्मदा के घाट पर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता है भावनाओं का समंदर।
Taj Mohammad
बारिश की बौछार
Shriyansh Gupta
चिराग जलाए नहीं
शेख़ जाफ़र खान
Loading...