Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

आइल दिन जाड़ा के

आइल दिन जाड़ा के
○○○○○○○○○○○○○○○
आइल दिन जाड़ा के आइल दिन जाड़ा के
देहिया रहेला कठुआइल आइल दिन जाड़ा के

ठंडी परअ ताटे क के तइयारी
भगिया के मारल का करे दुखियारी
जाड़ का रोकी फाटल लुगरी
लइका बेमार ना साल बा ना गुदरी
डाक्टर कहेला कि भइल निमोनिया
माई के जिया घबराइल- आइल दिन जाड़ा के
आइल दिन… आइल दिन… देहिया… आइल…

बूढ़-पुरनिया के रोग बढ़ल बा
जबसे अगहन मास चढ़ल बा
कुहा सितलहरी परे येतना भारी
रुकल जहाज रुकल रेलगाड़ी
येइमें किसनवा पटवेला खेतवा
धरती के भागि फरिआइल- आइल दिन जाड़ा के
आइल दिन… आइल दिन… देहिया… आइल…

चिरई-चुरुङ्ग के हाड़ लागे काँपे
काँपेला ऊहो जे कउड़ा तापे
पेड़वो के मारे लागल अब पाला
मरि गइलें मँगरू भइल बाटे हाला
सीमावा प तबो डटल बा जवनवा
सुनि सुनि हिया हरसाइल- आइल दिन जाड़ा के
आइल दिन… आइल दिन… देहिया… आइल…

– आकाश महेशपुरी
दिनांक-17/11/2007

130 Views
You may also like:
इंतजार
Anamika Singh
हो मन में लगन
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Blessings Of The Lord Buddha
Buddha Prakash
जितनी मीठी ज़ुबान रक्खेंगे
Dr fauzia Naseem shad
मर्द को भी दर्द होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
If we could be together again...
Abhineet Mittal
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कुछ लोग यूँ ही बदनाम नहीं होते...
मनोज कर्ण
# पिता ...
Chinta netam " मन "
अब भी श्रम करती है वृद्धा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
आज अपना सुधार लो
Anamika Singh
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
भोर का नवगीत / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
'दुष्टों का नाश करें' (ओज - रस)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
आदमी कितना नादान है
Ram Krishan Rastogi
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
पिता - नीम की छाँव सा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
अनामिका के विचार
Anamika Singh
दिल से रिश्ते निभाये जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
अब आ भी जाओ पापाजी
संदीप सागर (चिराग)
!!*!! कोरोना मजबूत नहीं कमजोर है !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
ख़्वाब पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
श्रीमती का उलाहना
श्री रमण 'श्रीपद्'
क्या ज़रूरत थी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"खुद की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
"कुछ तुम बदलो कुछ हम बदलें"
Ajit Kumar "Karn"
पिता
Manisha Manjari
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
Loading...