Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Nov 2023 · 1 min read

🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀

🥀 अज्ञानी की कलम🥀
विषय-विघ्रुन्माला (वर्णिक छंद)
विधान:222-222-22
बम भोले-डाले माला।
नागों की -गले पाला।।
कैलाश पति-धुनि रमाते।
वर जो जैसा-है दे डाला।।१।।
भूत नाथ-डमरू वाला।
त्रिपुरारी हैं-त्रिनेत्रों वाला।।
मांथे चन्द्र-नेत्रों ज्वाला।
अंग भवभूति-मृग छाला।।२।।

✍जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
झाँसी उ•प्र•

1 Like · 194 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
"किनारे से"
Dr. Kishan tandon kranti
आपने खो दिया अगर खुद को
आपने खो दिया अगर खुद को
Dr fauzia Naseem shad
मोबाइल महात्म्य (व्यंग्य कहानी)
मोबाइल महात्म्य (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
राजस्थानी भाषा में
राजस्थानी भाषा में
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
स्वयंसिद्धा
स्वयंसिद्धा
ऋचा पाठक पंत
गिला,रंजिशे नाराजगी, होश मैं सब रखते है ,
गिला,रंजिशे नाराजगी, होश मैं सब रखते है ,
गुप्तरत्न
Diploma in Urdu Language & Urdu course| Rekhtalearning
Diploma in Urdu Language & Urdu course| Rekhtalearning
Urdu Course
इक क़तरा की आस है
इक क़तरा की आस है
kumar Deepak "Mani"
" दिल गया है हाथ से "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
हिन्दी दोहा बिषय- न्याय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
दोहा
दोहा
sushil sarna
सब गुण संपन्य छी मुदा बहिर बनि अपने तालें नचैत छी  !
सब गुण संपन्य छी मुदा बहिर बनि अपने तालें नचैत छी !
DrLakshman Jha Parimal
जीवनदायिनी बैनगंगा
जीवनदायिनी बैनगंगा
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
दिलकश
दिलकश
Vandna Thakur
नौकरी वाली बीबी
नौकरी वाली बीबी
Rajni kapoor
ज़िंदगानी
ज़िंदगानी
Shyam Sundar Subramanian
श्री कृष्ण भजन
श्री कृष्ण भजन
Khaimsingh Saini
3300.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3300.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
वादा
वादा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तस्वीर तुम्हारी देखी तो
तस्वीर तुम्हारी देखी तो
VINOD CHAUHAN
रिश्तो को कायम रखना चाहते हो
रिश्तो को कायम रखना चाहते हो
Harminder Kaur
हत्या
हत्या
Kshma Urmila
मैया तेरा लाडला ये हमको सताता है
मैया तेरा लाडला ये हमको सताता है
कृष्णकांत गुर्जर
हुआ क्या है
हुआ क्या है
Neelam Sharma
लगन लगे जब नेह की,
लगन लगे जब नेह की,
Rashmi Sanjay
पापा
पापा
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
खींचो यश की लम्बी रेख।
खींचो यश की लम्बी रेख।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
होठों को रख कर मौन
होठों को रख कर मौन
हिमांशु Kulshrestha
प्राकृतिक सौंदर्य
प्राकृतिक सौंदर्य
Neeraj Agarwal
Loading...