Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2023 · 1 min read

🙏🙏सुप्रभात जय माता दी 🙏🙏

🙏🙏सुप्रभात जय माता दी 🙏🙏
प्रभाकर के उर्जा सा खदान हो
चाहत से भी ज्यादा धनवान हो
परिवार के आधार शीला की शान हो
मेरी दोस्ती की आप ही पहचान हो
नवनीत पाण्डेय चंकी

1 Like · 100 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.

Books from Er.Navaneet R Shandily

You may also like:
बाल चुभे तो पत्नी बरसेगी बन गोला/आकर्षण से मार कांच का दिल है भामा
बाल चुभे तो पत्नी बरसेगी बन गोला/आकर्षण से मार कांच का दिल है भामा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"पर्सनल पूर्वाग्रह" के लँगोट
*Author प्रणय प्रभात*
इश्क की गली में जाना छोड़ दिया हमने
इश्क की गली में जाना छोड़ दिया हमने
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.
Khuch wakt ke bad , log tumhe padhna shuru krenge.
Sakshi Tripathi
बेचारी रोती कलम ,कहती वह था दौर (कुंडलिया)*
बेचारी रोती कलम ,कहती वह था दौर (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मूर्दों की बस्ती
मूर्दों की बस्ती
Shekhar Chandra Mitra
धर्म वर्ण के भेद बने हैं प्रखर नाम कद काठी हैं।
धर्म वर्ण के भेद बने हैं प्रखर नाम कद काठी हैं।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
आपकी सोच जैसी होगी
आपकी सोच जैसी होगी
Dr fauzia Naseem shad
आसान नहीं होता
आसान नहीं होता
Rohit Kaushik
वक्त के हालात बदले हैं,
वक्त के हालात बदले हैं,
Bodhisatva kastooriya
कलयुग मे घमंड
कलयुग मे घमंड
Anil chobisa
इश्क के चादर में इतना न लपेटिये कि तन्हाई में डूब जाएँ,
इश्क के चादर में इतना न लपेटिये कि तन्हाई में डूब जाएँ,
Nav Lekhika
"भीमसार"
Dushyant Kumar
"माँ"
इंदु वर्मा
गीतिका।
गीतिका।
Pankaj sharma Tarun
#drarunkumarshastriblogger
#drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
वक्त बनाये, वक्त ही,  फोड़े है,  तकदीर
वक्त बनाये, वक्त ही, फोड़े है, तकदीर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कभी भूल से भी तुम आ जाओ
कभी भूल से भी तुम आ जाओ
Chunnu Lal Gupta
हर कोई जिंदगी में अब्बल होने की होड़ में भाग रहा है
हर कोई जिंदगी में अब्बल होने की होड़ में भाग रहा है
कवि दीपक बवेजा
लटक गयी डालियां
लटक गयी डालियां
ashok babu mahour
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
दिलो को जला दे ,लफ्ज़ो मैं हम वो आग रखते है ll
गुप्तरत्न
*सेवानिवृत्ति*
*सेवानिवृत्ति*
पंकज कुमार कर्ण
साहस
साहस
श्री रमण 'श्रीपद्'
कुछ अपने रूठे,कुछ सपने टूटे,कुछ ख़्वाब अधूरे रहे गए,
कुछ अपने रूठे,कुछ सपने टूटे,कुछ ख़्वाब अधूरे रहे गए,
Vishal babu (vishu)
गिरोहबंदी ...
गिरोहबंदी ...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
💐प्रेम कौतुक-554💐
💐प्रेम कौतुक-554💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अपना प्यारा जालोर जिला
अपना प्यारा जालोर जिला
Shankar J aanjna
बात
बात
Shyam Sundar Subramanian
वह दौर भी चिट्ठियों का अजब था
वह दौर भी चिट्ठियों का अजब था
श्याम सिंह बिष्ट
इश्क़
इश्क़
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Loading...