Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2017 · 1 min read

??ख़ास जगह आप लेते है??

??ख़ास जगह आप लेते है??

लोग अपने आपको ज्यादा ही आक लेते,,,
खुद का कद कुछ ज्यादा ही नाप लेते है,,,

हमने कई उड़ते परिंदे देखे है आसमा में।।
उड़के जायेगा कहाँ बैठेगा भाप लेते है,,,

वक़्त और स्थिति का तकाजा है हमे भी।।
आँच न आये रिस्तो पे तानो की आग ताप लेते है,,,

कुछ तो हमने भी दुनिया देखी है जनाब।।
मजमून खत का हुलिया देख बाच लेते है,,,

कभी रंग एक सा नहीं रहता जिंदगी का।।
हम भी जीवन के रंगीन लिफापे छाप लेते है,,,

मनु फिर भी तुमको सलाम करता रहेगा।।
क्यों की हमारी दुनिया में ख़ास जगह आप लेते है,,,
मानक लाल मनु ।।।।
सरस्वती साहित्य परिसद,,,,

Language: Hindi
219 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ঈশ্বর কে
ঈশ্বর কে
Otteri Selvakumar
“फेसबूक मित्रों की बेरुखी”
“फेसबूक मित्रों की बेरुखी”
DrLakshman Jha Parimal
जब इंस्पेक्टर ने प्रेमचंद से कहा- तुम बड़े मग़रूर हो..
जब इंस्पेक्टर ने प्रेमचंद से कहा- तुम बड़े मग़रूर हो..
Shubham Pandey (S P)
अपने-अपने चक्कर में,
अपने-अपने चक्कर में,
Dr. Man Mohan Krishna
उसे खो दिया जाने किसी के बाद
उसे खो दिया जाने किसी के बाद
Phool gufran
खामोशी से तुझे आज भी चाहना
खामोशी से तुझे आज भी चाहना
Dr. Mulla Adam Ali
"इस्तिफ़सार" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
पसन्द नहीं था खुदा को भी, यह रिश्ता तुम्हारा
gurudeenverma198
शिखर के शीर्ष पर
शिखर के शीर्ष पर
प्रकाश जुयाल 'मुकेश'
रूपान्तरण
रूपान्तरण
Dr. Kishan tandon kranti
।। जीवन प्रयोग मात्र ।।
।। जीवन प्रयोग मात्र ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
प्रेम
प्रेम
Acharya Rama Nand Mandal
ये चिल्ले जाड़े के दिन / MUSAFIR BAITHA
ये चिल्ले जाड़े के दिन / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
2712.*पूर्णिका*
2712.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*सर्दियों में एक टुकड़ा, धूप कैसे खाइए (हिंदी गजल)*
*सर्दियों में एक टुकड़ा, धूप कैसे खाइए (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
आपसा हम जो
आपसा हम जो
Dr fauzia Naseem shad
तुम हासिल ही हो जाओ
तुम हासिल ही हो जाओ
हिमांशु Kulshrestha
निकाल देते हैं
निकाल देते हैं
Sûrëkhâ
एक जिद्दी जुनूनी और स्वाभिमानी पुरुष को कभी ईनाम और सम्मान क
एक जिद्दी जुनूनी और स्वाभिमानी पुरुष को कभी ईनाम और सम्मान क
Rj Anand Prajapati
कोई तो डगर मिले।
कोई तो डगर मिले।
Taj Mohammad
सौ बरस की जिंदगी.....
सौ बरस की जिंदगी.....
Harminder Kaur
मेरी फितरत
मेरी फितरत
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
लब्ज़ परखने वाले अक्सर,
लब्ज़ परखने वाले अक्सर,
ओसमणी साहू 'ओश'
ऊपर चढ़ता देख तुम्हें, मुमकिन मेरा खुश होना।
ऊपर चढ़ता देख तुम्हें, मुमकिन मेरा खुश होना।
सत्य कुमार प्रेमी
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
sudhir kumar
*दिल कहता है*
*दिल कहता है*
Kavita Chouhan
आजादी
आजादी
नूरफातिमा खातून नूरी
😢हे माँ माताजी😢
😢हे माँ माताजी😢
*प्रणय प्रभात*
नवरात्रि के सातवें दिन दुर्गाजी की सातवीं शक्ति देवी कालरात्
नवरात्रि के सातवें दिन दुर्गाजी की सातवीं शक्ति देवी कालरात्
Shashi kala vyas
झर-झर बरसे नयन हमारे ज्यूँ झर-झर बदरा बरसे रे
झर-झर बरसे नयन हमारे ज्यूँ झर-झर बदरा बरसे रे
हरवंश हृदय
Loading...