Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jan 2023 · 1 min read

💐💐किसी रोज़ जरूर मिलेंगे देखना💐💐

##मणिकर्णिका##
##क्या हाल हैं बौनी##
##ज़्यादा सयानी बन रही कौनी😉##
##चल गीत कल पड़ेगा##
##टाइम से डाला कर बौनी##
##सूचना न मिली लेट मिली##

किसी रोज़ जरूर मिलेंगे देखना,
जैसे टूटा सितारा जमीं से मिलता है,
सिमटते रहे रास्तों की हक़ीक़त,
देखी सभी ने तो मैंने भी देखी,
जो छिपे राज़ हैं उनकी सब शरीफ़त,
तुमने है देखी और बस मैंने है देखी,
किसी रोज़ आँखों से आँसू गिरेंगे देखना,
जैसे टूटा सितारा जमीं से मिलता है।।1।।
कोई नाचीज़ थी क्या?काँटा कहें,
फूल से रिश्ते को अब क्या क्या कहें?
मानना चाँदनी की पहचान चंदा से है,
जो गई आरजू उसे कब तक सहें,
सुनो ख़्यालों के पत्ते जलते देखना,
जैसे टूटा सितारा जमीं से मिलता है।।2।।
कोई उदासी नहीं न कोई खुशी है,
न पहले कोई कमी थी न अब कोई कमी है,
कुछ जज़्बात थे जो संभले नहीं,
उस बात की ही तो यह नमी है,
जो कुछ हुआ उसे ओझल देखना,
जैसे टूटा सितारा जमीं से मिलता है।।3।।
कोई अफ़साना नहीं, रूबरू कब हुए?
ख़त्म हो ही गए, शुरू कब हुए?
कोई गुलाबी हर्फ़ तो छोड़ जाते,
वो बोले, हम तो सब भूले हुए,
कभी कड़ी धूप में शबनम देखना,
जैसे टूटा सितारा जमीं से मिलता है।।4।।

शरीफ़त=Destiny

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
Tag: गीत
62 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
रोशनी की भीख
रोशनी की भीख
Shekhar Chandra Mitra
!!! हार नहीं मान लेना है !!!
!!! हार नहीं मान लेना है !!!
जगदीश लववंशी
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
शांति युद्ध
शांति युद्ध
Dr.Priya Soni Khare
चोट शब्दों की ना सही जाए
चोट शब्दों की ना सही जाए
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*कभी अनुकूल होती है, कभी प्रतिकूल होती है (मुक्तक)*
*कभी अनुकूल होती है, कभी प्रतिकूल होती है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
💐प्रेम कौतुक-343💐
💐प्रेम कौतुक-343💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Transparency is required to establish a permanent relationsh
Transparency is required to establish a permanent relationsh
DrLakshman Jha Parimal
हिन्दी दोहा लाड़ली
हिन्दी दोहा लाड़ली
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Mere hisse me ,
Mere hisse me ,
Sakshi Tripathi
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mayank Kumar
आत्म संयम दृढ़ रखों, बीजक क्रीड़ा आधार में।
आत्म संयम दृढ़ रखों, बीजक क्रीड़ा आधार में।
Er.Navaneet R Shandily
*खुशबू*
*खुशबू*
Shashi kala vyas
मौसम नहीं बदलते हैं मन बदलना पड़ता है
मौसम नहीं बदलते हैं मन बदलना पड़ता है
कवि दीपक बवेजा
बरसात (विरह)
बरसात (विरह)
लक्ष्मी सिंह
वृद्धाश्रम
वृद्धाश्रम
मनोज कर्ण
गाओ शुभ मंगल गीत
गाओ शुभ मंगल गीत
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
रिश्ते
रिश्ते
Shutisha Rajput
प्रेम की अनिवार्यता
प्रेम की अनिवार्यता
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
नारी नारायणी
नारी नारायणी
Sandeep Pande
पहलवान बहनो के समर्थन में ..... ✍️
पहलवान बहनो के समर्थन में ..... ✍️
Kailash singh
जब 'बुद्ध' कोई नहीं बनता।
जब 'बुद्ध' कोई नहीं बनता।
Buddha Prakash
"जोकर"
Dr. Kishan tandon kranti
अन्न पै दाता की मार
अन्न पै दाता की मार
MSW Sunil SainiCENA
तुम्हें नमन है अमर शहीदों
तुम्हें नमन है अमर शहीदों
लालबहादुर चौरसिया 'लाल'
फूल ही फूल
फूल ही फूल
shabina. Naaz
तमाम लोग किस्मत से
तमाम लोग किस्मत से "चीफ़" होते हैं और फ़ितरत से "चीप।"
*Author प्रणय प्रभात*
अगर फैसला मैं यह कर लूं
अगर फैसला मैं यह कर लूं
gurudeenverma198
मोह माया ये ज़िंदगी सब फ़ँस गए इसके जाल में !
मोह माया ये ज़िंदगी सब फ़ँस गए इसके जाल में !
Neelam Chaudhary
मुरशिद
मुरशिद
Satish Srijan
Loading...