Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Mar 2024 · 1 min read

“𝗜 𝗵𝗮𝘃𝗲 𝗻𝗼 𝘁𝗶𝗺𝗲 𝗳𝗼𝗿 𝗹𝗼𝘃𝗲.”

“𝗜 𝗵𝗮𝘃𝗲 𝗻𝗼 𝘁𝗶𝗺𝗲 𝗳𝗼𝗿 𝗹𝗼𝘃𝗲.”
We are busy people chasing dreams. We are ambitious and career driven. Yet at some point we realize we age, and our time to find a lifetime partner is running out of battery.
We matured through the responsibilities of life, proving our capability to handle relationships isn’t based on how many guys and girls we dated back in time.
Some of us have broken hearts that are afraid to take risks, hopeless romantics afraid of rejections, or people who are not yet ready for a full blown relationship.

We are a generation of “busy people.” Once lovers, now career oriented. But we are not totally closing our doors to love, we just wait until our hearts lead us to the right person. 🔥

51 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मेरी किस्मत
मेरी किस्मत
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
"अल्फाज दिल के "
Yogendra Chaturwedi
■ बड़ा सच...
■ बड़ा सच...
*Author प्रणय प्रभात*
तुम बिन जीना सीख लिया
तुम बिन जीना सीख लिया
Arti Bhadauria
*सदियों से सुख-दुख के मौसम, इस धरती पर आते हैं (हिंदी गजल)*
*सदियों से सुख-दुख के मौसम, इस धरती पर आते हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
मन मेरा मेरे पास नहीं
मन मेरा मेरे पास नहीं
Pratibha Pandey
जनता का पैसा खा रहा मंहगाई
जनता का पैसा खा रहा मंहगाई
नेताम आर सी
All you want is to see me grow
All you want is to see me grow
Ankita Patel
आपसे होगा नहीं , मुझसे छोड़ा नहीं जाएगा
आपसे होगा नहीं , मुझसे छोड़ा नहीं जाएगा
Keshav kishor Kumar
वो दिल लगाकर मौहब्बत में अकेला छोड़ गये ।
वो दिल लगाकर मौहब्बत में अकेला छोड़ गये ।
Phool gufran
वक्त
वक्त
Ramswaroop Dinkar
लत
लत
Mangilal 713
जुदाई की शाम
जुदाई की शाम
Shekhar Chandra Mitra
संस्कार का गहना
संस्कार का गहना
Sandeep Pande
आजा मेरे दिल तू , मत जा मुझको छोड़कर
आजा मेरे दिल तू , मत जा मुझको छोड़कर
gurudeenverma198
अजीब शौक पाला हैं मैने भी लिखने का..
अजीब शौक पाला हैं मैने भी लिखने का..
शेखर सिंह
"बेकसूर"
Dr. Kishan tandon kranti
जवानी
जवानी
Bodhisatva kastooriya
पर्यावरण
पर्यावरण
Dr Parveen Thakur
चलो क्षण भर भुला जग को, हरी इस घास में बैठें।
चलो क्षण भर भुला जग को, हरी इस घास में बैठें।
डॉ.सीमा अग्रवाल
जाते जाते कुछ कह जाते --
जाते जाते कुछ कह जाते --
Seema Garg
2813. *पूर्णिका*
2813. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*** मुंह लटकाए क्यों खड़ा है ***
*** मुंह लटकाए क्यों खड़ा है ***
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
गोधरा
गोधरा
Prakash Chandra
वैर भाव  नहीं  रखिये कभी
वैर भाव नहीं रखिये कभी
Paras Nath Jha
कृष्ण जन्म / (नवगीत)
कृष्ण जन्म / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरा दुश्मन
मेरा दुश्मन
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मैं नही चाहती किसी के जैसे बनना
मैं नही चाहती किसी के जैसे बनना
ruby kumari
*श्रम साधक *
*श्रम साधक *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
देखिए खूबसूरत हुई भोर है।
देखिए खूबसूरत हुई भोर है।
surenderpal vaidya
Loading...