Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Nov 2019 · 1 min read

【6】** माँ **

* मेरी माँ है जग से न्यारी,
देती मुझको खुशियाँ सारी **
* मैं रोता माँ मुझे हंसाती,
कई खिलौने मुझे दिलाती **
* मैं रूठूँ माँ मुझे मनाती,
ढेर कहानी मुझे सुनाती **
* गोद उठाकर मेरी मैया,
कहती मुझको कृष्ण – कन्हैया **
* गोद में ले माँ माथा चूमे,
मेरा दिल माँ गोद में झूमे **
* मेरी माँ मुझको अनमोल,
बोले मैया मीठे बोल **
* गहरा सागर माँ का प्यार,
बच्चों को दे दुआ हजार **
* मीठी लोरियाँ मैया गाती,
सीने से माँ मुझे लगाती **
* सपने हमारे कई हजार,
* माँ से पायें जी भर प्यार **
लेखक :- खैमसिहं सैनी
भरतपुर ( राजस्थान )
मो.न. :- 9266034599

7 Likes · 3 Comments · 1432 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सरस्वती वंदना-5
सरस्वती वंदना-5
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
बेशक हुआ इस हुस्न पर दीदार आपका।
बेशक हुआ इस हुस्न पर दीदार आपका।
Phool gufran
"शिक्षक तो बोलेगा”
पंकज कुमार कर्ण
कविता के प्रेरणादायक शब्द ही सन्देश हैं।
कविता के प्रेरणादायक शब्द ही सन्देश हैं।
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
🙅खरी-खरी🙅
🙅खरी-खरी🙅
*प्रणय प्रभात*
GOD BLESS EVERYONE
GOD BLESS EVERYONE
Baldev Chauhan
दोहा बिषय- महान
दोहा बिषय- महान
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अब तो हमको भी आती नहीं, याद तुम्हारी क्यों
अब तो हमको भी आती नहीं, याद तुम्हारी क्यों
gurudeenverma198
कर सकता नहीं ईश्वर भी, माँ की ममता से समता।
कर सकता नहीं ईश्वर भी, माँ की ममता से समता।
डॉ.सीमा अग्रवाल
आखिर कब तक ?
आखिर कब तक ?
Dr fauzia Naseem shad
तू जब भी साथ होती है तो मेरा ध्यान लगता है
तू जब भी साथ होती है तो मेरा ध्यान लगता है
Johnny Ahmed 'क़ैस'
राह मे मुसाफिर तो हजार मिलते है!
राह मे मुसाफिर तो हजार मिलते है!
Bodhisatva kastooriya
23/156.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/156.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ऑंसू छुपा के पर्स में, भरती हैं पत्नियॉं
ऑंसू छुपा के पर्स में, भरती हैं पत्नियॉं
Ravi Prakash
एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के
एक समझदार मां रोते हुए बच्चे को चुप करवाने के लिए प्रकृति के
Dheerja Sharma
आशा का दीप
आशा का दीप
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
ज्ञान क्या है
ज्ञान क्या है
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जरूरत से ज्यादा मुहब्बत
जरूरत से ज्यादा मुहब्बत
shabina. Naaz
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
वो शिकायत भी मुझसे करता है
वो शिकायत भी मुझसे करता है
Shweta Soni
नशा नाश की गैल हैं ।।
नशा नाश की गैल हैं ।।
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
अन्न का मान
अन्न का मान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
एक सच और सोच
एक सच और सोच
Neeraj Agarwal
आया नववर्ष
आया नववर्ष
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
अपात्रता और कार्तव्यहीनता ही मनुष्य को धार्मिक बनाती है।
अपात्रता और कार्तव्यहीनता ही मनुष्य को धार्मिक बनाती है।
Dr MusafiR BaithA
9 .IMPORTANT REASONS WHY NOTHING IS WORKING IN YOUR LIFE.🤗🤗🤗
9 .IMPORTANT REASONS WHY NOTHING IS WORKING IN YOUR LIFE.🤗🤗🤗
पूर्वार्थ
टीस
टीस
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
दोहावली
दोहावली
Prakash Chandra
"तू-तू मैं-मैं"
Dr. Kishan tandon kranti
Miss you Abbu,,,,,,
Miss you Abbu,,,,,,
Neelofar Khan
Loading...