Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Oct 2022 · 1 min read

✍️इतिहास के पन्नो पर…

उन्ही की होती है इतिहास के पन्नो पर कहानियाँ
जिन की वतन पे बेख़ौफ मर मिटती है जवानियाँ
…………………………………………………………………//
©✍️’अशांत’ शेखर
         07/10/2022

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 205 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हमें न बताइये,
हमें न बताइये,
शेखर सिंह
भारत की देख शक्ति, दुश्मन भी अब घबराते है।
भारत की देख शक्ति, दुश्मन भी अब घबराते है।
Anil chobisa
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
Priya princess panwar
2652.पूर्णिका
2652.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हे कहाँ मुश्किलें खुद की
हे कहाँ मुश्किलें खुद की
Swami Ganganiya
रुके ज़माना अगर यहां तो सच छुपना होगा।
रुके ज़माना अगर यहां तो सच छुपना होगा।
Phool gufran
*
*"रोटी"*
Shashi kala vyas
कितना कोलाहल
कितना कोलाहल
Bodhisatva kastooriya
एक वृक्ष जिसे काट दो
एक वृक्ष जिसे काट दो
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*कितनी भी चालाकी चल लो, समझ लोग सब जाते हैं (हिंदी गजल)*
*कितनी भी चालाकी चल लो, समझ लोग सब जाते हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Shaily
अज्ञानी की कलम
अज्ञानी की कलम
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
दोहे - नारी
दोहे - नारी
sushil sarna
सविनय निवेदन
सविनय निवेदन
कृष्णकांत गुर्जर
तू फ़रिश्ता है अगर तो
तू फ़रिश्ता है अगर तो
*प्रणय प्रभात*
वस्तु वस्तु का  विनिमय  होता  बातें उसी जमाने की।
वस्तु वस्तु का विनिमय होता बातें उसी जमाने की।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
दीवाली की रात आयी
दीवाली की रात आयी
Sarfaraz Ahmed Aasee
खुशी -उदासी
खुशी -उदासी
SATPAL CHAUHAN
इक्कीसवीं सदी के सपने... / MUSAFIR BAITHA
इक्कीसवीं सदी के सपने... / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
शिक्षा अपनी जिम्मेदारी है
शिक्षा अपनी जिम्मेदारी है
Buddha Prakash
" नेतृत्व के लिए उम्र बड़ी नहीं, बल्कि सोच बड़ी होनी चाहिए"
नेताम आर सी
चेहरे के भाव
चेहरे के भाव
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
"अवध में राम आये हैं"
Ekta chitrangini
Gestures Of Love
Gestures Of Love
Vedha Singh
लोग समझते हैं
लोग समझते हैं
VINOD CHAUHAN
अभिव्यक्ति
अभिव्यक्ति
Punam Pande
"दीदार"
Dr. Kishan tandon kranti
वफा करो हमसे,
वफा करो हमसे,
Dr. Man Mohan Krishna
गिफ्ट में क्या दू सोचा उनको,
गिफ्ट में क्या दू सोचा उनको,
Yogendra Chaturwedi
Loading...