Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Aug 2016 · 1 min read

ख़ुद से दिन रात क्यूँ लड़े कोई।

ख़ुद से दिन रात क्यूँ लड़े कोई।
रोज़ ख़ुद क्यूँ मरे जिए कोई।।

किन मसाइल का हल नहीं मिलता।
ज़िन्दगी तुझसे क्यूँ डरे कोई।।

बख़्त में जो भी है लिखा, होगा।
हौसला कम नहीं करे कोई।।

उसको मंज़िल ही जब नहीं मालूम।
उसके रस्ते पे क्यूँ चले कोई।।

बुतपरस्ती ही गर इबादत है।
फिर क्यूँ मंदिर यहाँ लुटे कोई।।

मुझसे उल्फ़त ही जब नहीं रखता।
फिर मेरी राह क्यूँ तके कोई।।

जब ‘अकेला’ है दिल मुक़द्दस फिर।
पाक दामन न क्यूँ रखे कोई।।

अकेला इलाहाबादी

2 Comments · 236 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आंखों को मल गए
आंखों को मल गए
Dr fauzia Naseem shad
दैनिक जीवन में सब का तू, कर सम्मान
दैनिक जीवन में सब का तू, कर सम्मान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पाँव में खनकी चाँदी हो जैसे - संदीप ठाकुर
पाँव में खनकी चाँदी हो जैसे - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
मैं माँ हूँ
मैं माँ हूँ
Arti Bhadauria
Humans and Animals - When When and When? - Desert fellow Rakesh Yadav
Humans and Animals - When When and When? - Desert fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
गुरु रामदास
गुरु रामदास
कवि रमेशराज
■ मंगलकामनाएं
■ मंगलकामनाएं
*Author प्रणय प्रभात*
23/44.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/44.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अब और ढूंढने की ज़रूरत नहीं मुझे
अब और ढूंढने की ज़रूरत नहीं मुझे
Aadarsh Dubey
*चली आई मधुर रस-धार, प्रिय सावन में मतवाली (गीतिका)*
*चली आई मधुर रस-धार, प्रिय सावन में मतवाली (गीतिका)*
Ravi Prakash
About [ Ranjeet Kumar Shukla ]
About [ Ranjeet Kumar Shukla ]
Ranjeet Kumar Shukla
गुलाब के अलग हो जाने पर
गुलाब के अलग हो जाने पर
ruby kumari
वीर-स्मृति स्मारक
वीर-स्मृति स्मारक
Kanchan Khanna
बाल कविता: चूहे की शादी
बाल कविता: चूहे की शादी
Rajesh Kumar Arjun
खुश रहने की कोशिश में
खुश रहने की कोशिश में
Surinder blackpen
बंद मुट्ठी बंदही रहने दो
बंद मुट्ठी बंदही रहने दो
Abasaheb Sarjerao Mhaske
जिस बाग में बैठा वहां पे तितलियां मिली
जिस बाग में बैठा वहां पे तितलियां मिली
कृष्णकांत गुर्जर
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
Shyam Sundar Subramanian
किस क़दर
किस क़दर
हिमांशु Kulshrestha
नियम पुराना
नियम पुराना
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
**विकास**
**विकास**
Awadhesh Kumar Singh
Your heart is a Queen who runs by gesture of your mindset !
Your heart is a Queen who runs by gesture of your mindset !
Nupur Pathak
विश्वकप-2023
विश्वकप-2023
World Cup-2023 Top story (विश्वकप-2023, भारत)
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
ये जनाब नफरतों के शहर में,
ये जनाब नफरतों के शहर में,
ओनिका सेतिया 'अनु '
सुबह की किरणों ने, क्षितिज़ को रौशन किया कुछ ऐसे, मद्धम होती साँसों पर, संजीवनी का असर हुआ हो जैसे।
सुबह की किरणों ने, क्षितिज़ को रौशन किया कुछ ऐसे, मद्धम होती साँसों पर, संजीवनी का असर हुआ हो जैसे।
Manisha Manjari
बदल गए तुम
बदल गए तुम
Kumar Anu Ojha
मन मंथन कर ले एकांत पहर में
मन मंथन कर ले एकांत पहर में
Neelam Sharma
चाँद सी चंचल चेहरा🙏
चाँद सी चंचल चेहरा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"जब मानव कवि बन जाता हैं "
Slok maurya "umang"
Loading...