Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 21, 2019 · 1 min read

होली में

दिल का मलाल भूला दे होली में
मिलकर गुलाल लगा लें होली में
बरसाने वाले प्यार का रंग जमा लें होली में
राधा मैं श्याम बन जाओ तुम होली में।।
चांदनी रात में जल जाती है होलिका होली में
रंगीले गीत गाती है मस्तों की टोली होली में
रंग -रंग के रंग उड़ाते नाचे गाएं होली में
रंग भरी पिचकारी से आज भिगो दें होली में।।
गुझियों की मीठी मीठी खुशबू आती है होली में
मदमस्त हो सब पीते हैं भांग होली में
नाचे झूमें रंग बरसाएं आज मिलें होली में
द्वेष नफरत बिसरा कर प्यार बरसाएं होली में।।

कुंती नवल
20-3-2019

306 Views
You may also like:
क्या प्रात है !
Saraswati Bajpai
तुमने वफा न निभाया
Anamika Singh
फैल गया काजल
Rashmi Sanjay
इश्क में बेचैनियाँ बेताबियाँ बहुत हैं।
Taj Mohammad
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
शक्ति राव मणि
किसी का होके रह जाना
Dr fauzia Naseem shad
'नटखट नटवर'(डमरू घनाक्षरी)
Godambari Negi
लघुकथा: ऑनलाइन
Ravi Prakash
हो गयी आज तो हद यादों की
Anis Shah
#udhas#alone#aloneboy#brokenheart
Dalveer Singh
“ माँ गंगा ”
DESH RAJ
" मायूस हुआ गुदड़ "
Dr Meenu Poonia
अब मैं बहुत खुश हूँ
gurudeenverma198
अल्फाज़ ए ताज भाग-1
Taj Mohammad
✍️मैं आज़ाद हूँ (??)✍️
'अशांत' शेखर
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️अजनबी की तरह...!✍️
'अशांत' शेखर
*विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस प्रदर्शनी : एक अवलोकन*
Ravi Prakash
आज के रिश्ते!
Anamika Singh
कविगोष्ठी समाचार
Awadhesh Saxena
✍️गुलिस्ताँ सरज़मी के बंदिश में है✍️
'अशांत' शेखर
सुरज दादा
Anamika Singh
बदरिया
Dhirendra Panchal
" जननायक "
DrLakshman Jha Parimal
रुतबा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
The shade of 'Bodhi Tree'
Buddha Prakash
मेरी हस्ती
Anamika Singh
आया आषाढ़
श्री रमण 'श्रीपद्'
✍️मानो तो ये भी सही✍️
'अशांत' शेखर
पुस्तक समीक्षा- बुंदेलखंड के आधुनिक युग
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...