Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jan 2023 · 1 min read

है श्रेष्ट रक्तदान

महादान कर रक्त का, जीवन है अनमोल
दे पाओगे इस तरह, मानवता का मोल

डर मत ब्लड डोनेट कर, ओ भोले नादान
बने धरा में देवता, अक्सर यूँ इन्सान

कन्यादान सभी जगह, कहलाय महादान
प्राण बचे यदि आपका, है श्रेष्ट रक्तदान

***

Language: Hindi
2 Likes · 233 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
2529.पूर्णिका
2529.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मन डूब गया
मन डूब गया
Kshma Urmila
जन्म से
जन्म से
Santosh Shrivastava
मैं तो महज एहसास हूँ
मैं तो महज एहसास हूँ
VINOD CHAUHAN
inner voice!
inner voice!
कविता झा ‘गीत’
🌸 आने वाला वक़्त 🌸
🌸 आने वाला वक़्त 🌸
Mahima shukla
* ज्योति जगानी है *
* ज्योति जगानी है *
surenderpal vaidya
बचपन अपना अपना
बचपन अपना अपना
Sanjay ' शून्य'
मिलेगा हमको क्या तुमसे, प्यार अगर हम करें
मिलेगा हमको क्या तुमसे, प्यार अगर हम करें
gurudeenverma198
रामलला ! अभिनंदन है
रामलला ! अभिनंदन है
Ghanshyam Poddar
" मन मेरा डोले कभी-कभी "
Chunnu Lal Gupta
चिंतन और अनुप्रिया
चिंतन और अनुप्रिया
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
माँ ही हैं संसार
माँ ही हैं संसार
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
दिलों में प्यार भी होता, तेरा मेरा नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
काश यह मन एक अबाबील होता
काश यह मन एक अबाबील होता
Atul "Krishn"
नव प्रबुद्ध भारती
नव प्रबुद्ध भारती
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
फर्श पर हम चलते हैं
फर्श पर हम चलते हैं
Neeraj Agarwal
मर्दों को भी इस दुनिया में दर्द तो होता है
मर्दों को भी इस दुनिया में दर्द तो होता है
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
नारी टीवी में दिखी, हर्षित गधा अपार (हास्य कुंडलिया)
नारी टीवी में दिखी, हर्षित गधा अपार (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
चाय में इलायची सा है आपकी
चाय में इलायची सा है आपकी
शेखर सिंह
"सत्य"
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
इश्क़ कर लूं में किसी से वो वफादार कहा।
इश्क़ कर लूं में किसी से वो वफादार कहा।
Phool gufran
सहज है क्या _
सहज है क्या _
Aradhya Raj
The destination
The destination
Bidyadhar Mantry
इस दरिया के पानी में जब मिला,
इस दरिया के पानी में जब मिला,
Sahil Ahmad
इतना तो अधिकार हो
इतना तो अधिकार हो
Dr fauzia Naseem shad
"रोटी और कविता"
Dr. Kishan tandon kranti
छोड़ दूं क्या.....
छोड़ दूं क्या.....
Ravi Ghayal
महादेवी वर्मा जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि
महादेवी वर्मा जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि
Harminder Kaur
बिल्ली मौसी (बाल कविता)
बिल्ली मौसी (बाल कविता)
नाथ सोनांचली
Loading...