Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2023 · 1 min read

हे राम हृदय में आ जाओ

हे राम हृदय में आ जाओ अंतस का रावण वध जाओ
राम नवमी पर हार्दिक शुभकामनाएं
हे राम हृदय में आ जाओ
अंतस का रावण वध जाओ
तन रूपी 10 द्वार की लंका में
कुवृत्तियों रूपी 10 मुख रहता है
आत्मा रूपी यक्ष कैद है
सदवृति रूपी सहज विभीषण
रावण के दबाव में रहता है
हिंसा द्वेष पापरत वृतियां
मेरे अंतस में बैठी हैं
अशांत रहती है दुनिया मेरी
ऊपर से अहम की हेठी है
आ जाओ श्रीराम आ जाओ
अंतस के रावण को मारो
आजाद करो यक्ष मेरा
विभीषण स्वतंत्र कर जाओ
जीत जाए मेरा भी सच
असत्य पराजित हो जाए
विजयादशमी मन जाए
रावण अंतस का जल जाए
हे राम ह्रदय में आ जाओ
अंतस का रावण वध जाओ

सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
Tag: Poem
199 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
स्वप्न लोक के वासी भी जगते- सोते हैं।
स्वप्न लोक के वासी भी जगते- सोते हैं।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
हक़ीक़त ने
हक़ीक़त ने
Dr fauzia Naseem shad
काव्य भावना
काव्य भावना
Shyam Sundar Subramanian
कोई ज्यादा पीड़ित है तो कोई थोड़ा
कोई ज्यादा पीड़ित है तो कोई थोड़ा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सत्य केवल उन लोगो के लिए कड़वा होता है
सत्य केवल उन लोगो के लिए कड़वा होता है
Ranjeet kumar patre
ये मेरा हिंदुस्तान
ये मेरा हिंदुस्तान
Mamta Rani
Gazal
Gazal
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
* थके नयन हैं *
* थके नयन हैं *
surenderpal vaidya
"बीज"
Dr. Kishan tandon kranti
आओ बुद्ध की ओर चलें
आओ बुद्ध की ओर चलें
Shekhar Chandra Mitra
नौनी लगै घमौरी रे ! (बुंदेली गीत)
नौनी लगै घमौरी रे ! (बुंदेली गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
खामोश अवशेष ....
खामोश अवशेष ....
sushil sarna
राम की धुन
राम की धुन
Ghanshyam Poddar
आज भगवान का बनाया हुआ
आज भगवान का बनाया हुआ
प्रेमदास वसु सुरेखा
बाँकी अछि हमर दूधक कर्ज / मातृभाषा दिवश पर हमर एक गाेट कविता
बाँकी अछि हमर दूधक कर्ज / मातृभाषा दिवश पर हमर एक गाेट कविता
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
महक कहां बचती है
महक कहां बचती है
Surinder blackpen
*हमारे कन्हैया*
*हमारे कन्हैया*
Dr. Vaishali Verma
प्रेम और घृणा दोनों ऐसे
प्रेम और घृणा दोनों ऐसे
Neelam Sharma
आप सभी को रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं
आप सभी को रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
ये घड़ी की टिक-टिक को मामूली ना समझो साहब
ये घड़ी की टिक-टिक को मामूली ना समझो साहब
शेखर सिंह
ऐसे साथ की जरूरत
ऐसे साथ की जरूरत
Vandna Thakur
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
Mohan Pandey
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
कृष्णकांत गुर्जर
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
मन में पल रहे सुन्दर विचारों को मूर्त्त रुप देने के पश्चात्
मन में पल रहे सुन्दर विचारों को मूर्त्त रुप देने के पश्चात्
Paras Nath Jha
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
माफ करना मैडम हमें,
माफ करना मैडम हमें,
Dr. Man Mohan Krishna
सेल्फी जेनेरेशन
सेल्फी जेनेरेशन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
किछ पन्नाके छै ई जिनगीहमरा हाथमे कलम नइँमेटाैना थमाएल गेल अछ
किछ पन्नाके छै ई जिनगीहमरा हाथमे कलम नइँमेटाैना थमाएल गेल अछ
गजेन्द्र गजुर ( Gajendra Gajur )
सूरज का टुकड़ा...
सूरज का टुकड़ा...
Santosh Soni
Loading...