Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2024 · 1 min read

हे माँ अम्बे रानी शेरावाली

आया पहलीवार करते, तेरी जय जयकार
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली,सुनले पुकार
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली, करदे उद्धार ।
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली।।

जगजननी, जगपालक तूही, महिमा बड़ी निराली है
माँ जगदम्बे एक तूही सारी जग की रखवारी है
जो खाली झोली लाते है झोली भर के जाते है
मैं तो लाल चुनरिया लेकर आया, करले स्वीकार।
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली, करदे बेड़ा पार
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली।।

दुःख हरती, सुख देती मैया, तूही जग कल्याणी है
इस दुनियाँ में एक तूही तो, ममतामई भवानी है
माँ तेरी निर्मल काया है, अदभुत तेरी माया है
माँ पापी बेटा तू “बसंत” का, रख लेना लाज
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली, आया पहलीवार।
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली।।

✍️ बसंत भगवान राय
(धुन: अखियों से गोली मारे)

Language: Hindi
Tag: गीत
105 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Basant Bhagawan Roy
View all
You may also like:
Kya kahun ki kahne ko ab kuchh na raha,
Kya kahun ki kahne ko ab kuchh na raha,
Irfan khan
जिंदगी के रंगमंच में हम सभी अकेले हैं।
जिंदगी के रंगमंच में हम सभी अकेले हैं।
Neeraj Agarwal
यारों का यार भगतसिंह
यारों का यार भगतसिंह
Shekhar Chandra Mitra
रामलला ! अभिनंदन है
रामलला ! अभिनंदन है
Ghanshyam Poddar
तड़ाग के मुँह पर......समंदर की बात
तड़ाग के मुँह पर......समंदर की बात
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मत कर ग़ुरूर अपने क़द पर
मत कर ग़ुरूर अपने क़द पर
Trishika S Dhara
"सत्ता से संगठम में जाना"
*Author प्रणय प्रभात*
"नींद से जागो"
Dr. Kishan tandon kranti
हाइकु
हाइकु
Prakash Chandra
पिता
पिता
Harendra Kumar
साल भर पहले
साल भर पहले
ruby kumari
23/03.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/03.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
🕊️एक परिंदा उड़ चला....!
🕊️एक परिंदा उड़ चला....!
Srishty Bansal
जीवन
जीवन
Bodhisatva kastooriya
हुआ क्या है
हुआ क्या है
Neelam Sharma
पुरूषो से निवेदन
पुरूषो से निवेदन
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
जुगनू
जुगनू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तुलसी जयंती की शुभकामनाएँ।
तुलसी जयंती की शुभकामनाएँ।
Anil Mishra Prahari
इंसान की चाहत है, उसे उड़ने के लिए पर मिले
इंसान की चाहत है, उसे उड़ने के लिए पर मिले
Satyaveer vaishnav
* विजयदशमी मनाएं हम *
* विजयदशमी मनाएं हम *
surenderpal vaidya
फेसबुक पर सक्रिय रहितो अनजान हम बनल रहैत छी ! आहाँ बधाई शुभक
फेसबुक पर सक्रिय रहितो अनजान हम बनल रहैत छी ! आहाँ बधाई शुभक
DrLakshman Jha Parimal
आड़ी तिरछी पंक्तियों को मान मिल गया,
आड़ी तिरछी पंक्तियों को मान मिल गया,
Satish Srijan
Perhaps the most important moment in life is to understand y
Perhaps the most important moment in life is to understand y
पूर्वार्थ
अलाव की गर्माहट
अलाव की गर्माहट
Arvina
खेल करे पैसा मिले,
खेल करे पैसा मिले,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मुकम्मल क्यूँ बने रहते हो,थोड़ी सी कमी रखो
मुकम्मल क्यूँ बने रहते हो,थोड़ी सी कमी रखो
Shweta Soni
थक गया दिल
थक गया दिल
Dr fauzia Naseem shad
अपना नैनीताल...
अपना नैनीताल...
डॉ.सीमा अग्रवाल
दोहा-
दोहा-
दुष्यन्त बाबा
धर्म और विडम्बना
धर्म और विडम्बना
Mahender Singh
Loading...