Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Nov 2021 · 1 min read

हृदय परिवर्तन जो ‘बुद्ध’ ने किया ..।

एक अहिंसक हिंसक बन गया,
नरेश प्रसेनजित के राज्य में,
अंगुलियों की माला पहन कर,
पथिक की हत्या कर तलवार से ,
हृदय परिवर्तन जो ‘बुद्ध’ ने किया ..। ।१।

चल पड़ा अज्ञानता के पथ पर ,
तिरस्कार मिला जो सच्चे मन में ,
सुध-बुध अपना खोया वह ऐसा ,
बन गया डाकू अंगुलिमाल वह ,
हृदय परिवर्तन जो ‘बुद्ध’ ने किया ..। ।२।

भय से थर-थर कंपित होते ,
श्रावस्ती के सब नर-नार नरेश ,
बुद्ध की करुणा ऐसी मिल गयी,
बन गया भिक्खु अहिंसक अंगुलिमाल से ,
हृदय परिवर्तन जो ‘बुद्ध’ ने किया ..। ।३।

मैं ठहरा हूंँ तुम भी ठहर जाओ ,
वृक्ष का पत्ता तोड़ कर फिर लगाओ ,
कर न सका अंगुलिमाल यह,
जीवन को तुम दे नहीं सकते ,
प्राणों को हरने का अधिकार क्यों ,
हृदय परिवर्तन जो ‘बुद्ध’ ने किया ..।।४।

बुद्ध के शरण में संघ में आया ,
भिक्षाटन को नगर में गया ,
समझ अंगुलिमाल चोट है पहुंँचाया ,
शांत भाव से बुद्ध को बताया ,
हृदय परिवर्तन जो ‘बुद्ध’ ने किया ..।।५।

कर्मों का फल उसने है पाया ,
दुख देने से दुख ही मिलता ,
सत्य ज्ञान का हृदय में दीप जलाया ,
अंगुलिमाल था अब ‘बुद्ध’ का शिष्य कहलाया ,
हृदय परिवर्तन जो ‘बुद्ध’ ने किया ..।।६।

✍ बुद्ध प्रकाश,
मौदहा हमीरपुर ।

5 Likes · 4 Comments · 831 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
स्वामी श्रद्धानंद का हत्यारा, गांधीजी को प्यारा
स्वामी श्रद्धानंद का हत्यारा, गांधीजी को प्यारा
कवि रमेशराज
रंजीत शुक्ल
रंजीत शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
"दुःख से आँसू"
Dr. Kishan tandon kranti
मोहब्बत
मोहब्बत
Dinesh Kumar Gangwar
कृष्ण दामोदरं
कृष्ण दामोदरं
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
आज का दिन
आज का दिन
Punam Pande
पुष्प रुष्ट सब हो गये,
पुष्प रुष्ट सब हो गये,
sushil sarna
Love
Love
Kanchan Khanna
गीत मौसम का
गीत मौसम का
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
ममतामयी मां
ममतामयी मां
SATPAL CHAUHAN
चैत्र नवमी शुक्लपक्ष शुभ, जन्में दशरथ सुत श्री राम।
चैत्र नवमी शुक्लपक्ष शुभ, जन्में दशरथ सुत श्री राम।
Neelam Sharma
फैलाकर खुशबू दुनिया से जाने के लिए
फैलाकर खुशबू दुनिया से जाने के लिए
कवि दीपक बवेजा
*अपना भारत*
*अपना भारत*
मनोज कर्ण
मन की किताब
मन की किताब
Neeraj Agarwal
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
2812. *पूर्णिका*
2812. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
प्रयास
प्रयास
Dr fauzia Naseem shad
आया नववर्ष
आया नववर्ष
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
ऐ बादल अब तो बरस जाओ ना
ऐ बादल अब तो बरस जाओ ना
नूरफातिमा खातून नूरी
मुस्कराहटों के पीछे
मुस्कराहटों के पीछे
Surinder blackpen
जब ख्वाब भी दर्द देने लगे
जब ख्वाब भी दर्द देने लगे
Pramila sultan
सितमज़रीफ़ी
सितमज़रीफ़ी
Atul "Krishn"
दिल की जमीं से पलकों तक, गम ना यूँ ही आया होगा।
दिल की जमीं से पलकों तक, गम ना यूँ ही आया होगा।
डॉ.सीमा अग्रवाल
महाकाल का आंगन
महाकाल का आंगन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सायलेंट किलर
सायलेंट किलर
Dr MusafiR BaithA
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
बम बम भोले
बम बम भोले
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
मंज़र
मंज़र
अखिलेश 'अखिल'
संस्कृति वर्चस्व और प्रतिरोध
संस्कृति वर्चस्व और प्रतिरोध
Shashi Dhar Kumar
■ बस, एक ही अनुरोध...
■ बस, एक ही अनुरोध...
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...